नेपाल में बाढ़, 2000 घर बहे

Image caption भारत की सीमा से सटे नेपालगंज इलाके के इस पुल के पानी में डूबने का खतरा है.

नेपाल में हुई भारी बारिश से आई बाढ़ में दो बच्चे बह गए हैं जबकि 2000 घर तबाह हो गए हैं.

इस बाढ़ में देश के रुकुम जिले में एक आठ साल का बच्चा उफनती नदी में बह गया है जबकि धानकुटा जिले में एक 15 साल का बच्चा डूब गया है.

डांग जिले में राप्ती नदी में आई बाढ़ से 2,000 घर बह गए हैं. बाढ़ से 4,000 से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

इस बीच राहत और बचाव कार्य के लिए सशस्त्र पुलिस बल और नेपाल सेना की टीम को बाढ़ प्रभावित इलाकों में तैनात कर दिया गया है.

राप्ती नदी पर पुल खतरे में

नेपालगंज में बीबीसी के संवाददाता नेत्रा के सी ने बताया कि बाढ़ से डांग और बांके जिले में राप्ती नदी का मार्ग बदल गया है और नदी अपना रास्ता छोड़कर कई गांवों में घुस गई है.

नदी के मार्ग बदलने से बांगे जिले में एक पुल भी खतरे में पड़ गया है.

पुल पर तैनात 300 राहत और बचावकर्मी नदी की धारा को मोड़ने की कोशिश कर रहे हैं ताकि जान-माल के नुकसान को कम किया जा सके.

पश्चिमी नेपाल में कई बांधों से पानी छोड़े जाने से उत्तर प्रदेश में भी नदियों का जलस्तर बढ़ गया है.

नेपाल से भारत की ओर बहने वाली राप्ती, बूढ़ी राप्ती, सरयू और शारदा नदियों के किनारे बाढ़ की आशंका बढ़ गई है.

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी, सीतापुर, बाराबंकी, बहराइच, गोंडा, फैजाबाद, श्रावस्ती और सिद्धार्थनगर में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं लेकिन स्थिति अभी खतरे के स्तर तक नहीं पहुंची है.

संबंधित समाचार