ईरान: भूकंप के बाद खोज और बचाव काम पूरा

ईरान में भूकंप इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भूकंप में मरने वाले सभी लोग ग्रामीण हैं.

ईरान में शनिवार को आए विनाशकारी भूकंप के बाद खोज और बचाव काम पूरा हो गया है और अब अधिकारियों का पूरा ध्यान भूकंप पीड़ितों की देखभाल पर केंद्रित है.

ईरान के पश्चिमोत्तर इलाके में आए दो भूंकपों में 250 मारे गए और 2000 से ज्यादा लोग घायल हैं. तबरीज और अहर के आसपास के इलाके में आए इन भूकंपों में 100 से ज्यादा गांव प्रभावित हुए हैं.

6.4 और 6.3 की तीव्रता वाले इन भूकंपों के बाद 55 और झटके भी महसूस किए गए. देश के गृह मंत्रालय ने अब तक 250 लोगों के मारे जाने की पुष्टि कर दी है जबकि 2000 से ज्यादा घायल बताए जाते हैं.

गृह मंत्री मुस्तफा मोहम्मद नजर का कहना है कि अब खोज और बचाव अभियान रोक दिया गया है और अधिकारियों का जोर बेघर पीड़ितों को आसरा और खाना मुहैया कराने पर है.

खुले में गुजरी रात

वहीं ईरानी स्वास्थ्य मंत्री मारजिह वाहिद दस्तजेर्दी ने कहा, “बड़ी समस्या ये है कि अब भी शव जमीन पर पड़े हैं. उन्हें वहां से हटाना होगा. अस्थायी अस्तपाल पहले से कायम किए जा चुके हैं. तबरिज मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी हर प्रभावित गांव में स्वास्थ्य देखभाल मुहैया कराने को राजी हो गई है.”

ईरानी समाचार एजेंसी फार्स के अनुसार भूकंप प्रभावित 110 गावों में से चार गांव तो पूरी तरह सपाट हो गए हैं जबकि साठ गांवों में काफी ज्यादा नुकसान हुआ है.

एक राहत कर्मी ने बताया, “घायलों में से एक हजार लोगों को दूसरी जगहों पर पहुंचाया गया है. ग्यारह खोजी और राहत टीमों ने रडार ट्रेकिग उपकरणों से भूकंप पीड़ितों को खोजा. लगभग 400 आपात सहायता वाहनों को भूकंपग्रस्त इलाके में भेजा गया है. लगभग 1000 कंबल प्रभावित इलाकों के लिए रवाना किए गए हैं.”

भूकंप के कारण बेघर हुए लोगों को खुले आसमान के नीचे रात गुजारनी पड़ी. राहत एजेंसियां पीड़ितों को तंबू, खाना और पीने का पानी मुहैया करा रही हैं.

स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि भूंकप के कारण अभी तक सामने आई सभी मौतें ग्रामीण इलाकों में हुई हैं.

अहर शहर के एक निवासी ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि स्थानीय अस्पताल पूरी तरह भरा हुआ है और तबरिज और अहर को एक दूसरे से जोड़ने वाली सड़क पर ट्रैफिक जाम लग गया है क्योंकि लोग जल्द से जल्द चिकित्सा सहायता के लिए दौड़ रहे हैं.

संबंधित समाचार