विलासराव देशमुख के निधन पर शोक

 मंगलवार, 14 अगस्त, 2012 को 20:21 IST तक के समाचार
सोनिया मनमोहन

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने देशमुख के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है.

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री क्लिक करें विलासराव देशमुख की क्लिक करें मौत पर देश के सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने गहरा दुख व्यक्त किया है.

प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने विलासराव देशमुख की मौत पर संवेदना प्रकट करते हुए कहा, ''देशमुख एक भरोसेमंद साथी और जिम्मेदार प्रशासक थे जिन्होंने पंचायत, राज्य और फिर केंद्रीय स्तर पर सराहनीय योगदान दिया.''

क्लिक करें विलासराव देशमुख का जीवन-तस्वीरों में

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देशमुख की मौत को क्लिक करें पार्टी के लिए एक बड़ा नुकसान बताया है. दो बार मुख्यमंत्री के पद से हटाए जाने के बावजूद विलासराव देशमुख कांग्रेस पार्टी के काफ़ी अहम नेता माने जाते थे.

विलासराव देशमुख मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के भी अध्यक्ष थे. एनसीपी नेता शरद पवार के बाद उन्हें महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा मराठा नेता माना जाता था.

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गडकरी के अनुसार, ''विलासराव की गिनती महाराष्ट्र के आदरणीय नेताओं में होती थी. उनका व्यक्तित्व सभी को आकर्षित करता था और उनकी मौत से महाराष्ट्र और देश को काफी बड़ा नुकसान हुआ है. वे काफी अच्छे नेता, मंत्री और दोस्त थे.''

"एक होनहार नेता का इतनी कम उम्र में दुनिया छोड़कर जाना दुखद है। उनकी मौत की खबर से झटका लगा है"

जया बच्चन, राज्यसभा सांसद

जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने विलासराव देशमुख को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ईश्वर उनके परिवार को इस असामायिक आघात को सहने की शक्ति दे.

विराट व्यक्तित्व

भारतीय जनता पार्टी के नेता शाहनवाज़ हुसैन ने देशमुख को कांग्रेस का अहम नेता कहा है जिन्होंने महाराष्ट्र के लिए काफी काम किया था. शाहनवाज़ के अनुसार देशमुख काफी हंसमुख और मिलनसार व्यक्ति थे.

प्रकाश जावड़ेकर ने विलासराव को बडे़ दिल का राजनेता बताया है, जो सभी का ध्यान रखते थे. वे कहते हैं कि जावड़ेकर की तबीयत बहुत जल्दी खराब हुई और उनकी मौत से सबको गहरा आघात लगा है.

समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने विलासराव देशमुख की पर दुख जाहिर करते हुए कहा, ''एक होनहार नेता का इतनी कम उम्र में दुनिया छोड़कर जाना दुखद है. उनकी मौत की खबर से झटका लगा है.''

गडकरी

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गडकरी ने विलास राव देशमुख एक लोकप्रिया मराठा नेता बताया है.

महाराष्ट्र के कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने देशमुख की मौत पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ''कांग्रेस में उनकी जबरदस्त लोकप्रियता थी. हम सबको उनकी सेहत सुधरने के संकेत मिल रहे थे, हमें उम्मीद थी कि वो ठीक हो जाएंगे.''

कांग्रेस सांसद मिलिंद देवड़ा ने विलासराव देशमुख की मौत पर कहा, ''मेरे उनसे पारिवारिक संबंध थे, वो महान नेता और प्रशासक थे और अपने जीवनकाल में उन्होंने काफी उतार-चढ़ाव देखे थे. उनकी नेतृत्व क्षमता, बोलने की कला, संगठन को लेकर चलने की नीति उनकी सबसे बड़ी ताकत थी. अपने संगठन पर उनका पूर्ण नियंत्रण था और वो गठबंधन की सरकार भी पूरी कुशलता से चलाते थे. वे पार्टी के प्रभावशाली प्रचारक थे.''

सीपीआई के नेता डी राजा ने भी देशमुख के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है और इसे एक राष्ट्रीय क्षति बताया है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.