लड़े नहीं तो पाकिस्तान में गृह युद्ध:कियानी

 मंगलवार, 14 अगस्त, 2012 को 20:50 IST तक के समाचार
कियानी

सेनाध्यक्ष जनरल कियानी ने कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई सेना की अकेले की लड़ाई नहीं है

पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल अशफाक परवेज कियानी ने चेतावनी दी है कि अगर आतंकवाद के विरुद्ध लड़ाई नहीं लड़ी गई तो देश में गृह-युद्ध जैसी स्थिति बन सकती है.

कियानी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कबायली इलाकों में चरमपंथियों के खिलाफ सेना की ताजा कार्रवाई की उम्मीद की जा रही है.

पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इस्लामाबाद में सैन्य अकादमी में कियानी ने कहा, “चरमपंथियों और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई हमारी अपनी है. इसे लड़ना किसी तरह की कोई गलती नहीं है. इस बारे में किसी को कोई शंका नहीं होनी चाहिए. अन्यथा हम विभाजित रहेंगे और देश गृह युद्घ की ओर चला जाएगा. ”

इधर अमरीकी रक्षा मंत्री लियोन पनेटा ने भी कहा है कि पाक सेनाध्यक्ष ने निकट भविष्य में कबायली इलाकों में तालिबान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई का अमरीका को विश्वास दिलाया है.

"किसी भी सेना के लिए अपने ही लोगों के खिलाफ लड़ना सबसे मुश्किल होता है. लेकिन कोई दूसरा रास्ता न बचने की स्थिति में ही ऐसा करना पड़ता है"

पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल अशफाक परवेज

इस लिहाज से कियानी का यह बयान काफी अहम माना जा रहा है.

कियानी ने अपनी सेना का चरमपंथियों के खिलाफ कड़ी लड़ाई लड़ने का आह्वान किया. लेकिन यह भी माना कि चरमपंथियों के खिलाफ अभियान इतना आसान नहीं होगा.

कियानी ने कहा, “किसी भी सेना के लिए अपने ही लोगों के खिलाफ लड़ना सबसे मुश्किल होता है. लेकिन कोई दूसरा रास्ता न बचने की स्थिति में ही ऐसा करना पड़ता है.”

उन्होंने कहा, “कोई भी देश समांतर प्रणाली या चरमपंथी सेना को स्वीकार नहीं करता.”

कियानी ऐबटाबाद के करीब इस सैन्य अकादमी में आजादी परेड को संबोधित कर रहे थे. ऐबटाबाद में ही अमरीकी ने सैन्य कार्रवाई करके ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

कियानी ने इस मौके पर स्पष्ट किया कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई पूरे देश को लड़नी है न कि सिर्फ सेना को. उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई का फल तभी मिलेगा जब नागरिक प्रशासन सेना द्वारा मुक्त कराए गए क्षेत्रों में बिना किसी सैनिक सहायता के स्वतंत्र रुप से काम करे.

कियानी इससे पहले भी नागरिक प्रशासन के काम करने के तरीकों की कड़ी आलोचना कर चुके हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.