दोस्तों को खो रहा है फेसबुक

 शुक्रवार, 17 अगस्त, 2012 को 13:09 IST तक के समाचार

फेसबुक के शेयरों में लगातार गिरावट हो रही है

सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक की पहली लॉक-अप अवधि समाप्त होने के बाद उसके शेयरों में छह फीसद की गिरावट दर्ज की गई है.

शेयरों में गिरावट इसलिए आई है क्योंकि कई पुराने शेयरधारकों ने मई महीने के बाद पहली बार शेयर बेचने की इजाजत मिलने के चलते ही अपने शेयरों को बेच दिया है.

गुरुवार को फेसबुक के 27 करोड़ दस लाख शेयर बिक्री योग्य हो चुके थे. ये संख्या मई में बिके 42 करोड़ दस लाख शेयरों की तुलना में आधे से ज्यादा थी, जब इन्हें 38 डॉलर के मूल्य पर बेचा गया था.

तब से अब तक फेसबुक के शेयरों की कीमतों में लगातार कमी दर्ज की गई है.

गुरुवार को शुरुआती बिक्री में शेयरों के दामों में छह फीसद की गिरावट दर्ज की गई.

लॉक-अप अवधि वो समय होता है जिसमें कंपनी के कर्मचारियों को अपने शेयर बेचने की अनुमति नहीं होती. ये अवधि आईपीओ जारी होने के 90 दिन के बाद अमूमन समाप्त हो जाती है.

लॉक-अप अवधि

दरअसल, ये व्यवस्था किसी कंपनी के शेयरों में बड़े उतार-चढ़ाव को रोकने के लिए की गई है.

फेसबुक युवाओं में बेहद लोकप्रिय है

शेयर बाजार में लिस्टिंग के बाद से ही फेसबुक के शेयरों में भारी गिरावट देखी जा रही है.

गुरुवार को लॉक- अप अवधि खत्म होते ही फेसबुक के शेयर अपने अब तक के सबसे निचले स्तर पर आ गए. गुरुवार को फेसबुक के शेयर का भाव बुधवार की तुलना में छह फीसद से ज्यादा की गिरावट के साथ 19.87 डॉलर पर बंद हुआ.

इसी हफ्ते, फेसबुक के मुख्य कार्यकारी शेरिल सैंडबर्ग और वित्त प्रमुख डेविड एबर्समैन भी अपने शेयरों को बेचने के लिए अर्ह हो गए.

इसके अलावा फेसबुक का पुराना शेयरधारक माइक्रोसॉफ्ट भी ऐसा करने के योग्य हो चुका है. शेयरों के बेचने की अर्हता रखने वाले अन्य शेयरधारकों में गोल्डमान सैक्स और एक्सेल जैसे साझीदार भी शामिल हैं.

हालांकि फेसबुक के मुख्य कार्यकारी मार्क जुकरबर्ग मध्य नवंबर से पहले तक अपने शेयरों को बेचने के लिए अर्ह नहीं होंगे.

गिरावट

ऐसा नहीं है कि फेसबुक को ही अपने शेयरों में गिरावट का सामना करना पड़ा है, बल्कि कई और कंपनियों को अपनी लॉक-अप अवधि की समाप्ति के बाद इस स्थिति से रूबरू होना पड़ा है.

लिंकडिन के शेयरों में लॉक-अप अवधि समाप्त होने के बाद सात फीसद से ज्यादा की गिरावट का सामना करना पड़ा था जबकि ग्रूपॉन के शेयरों में दस फीसद से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई थी.

मई में शेयर बाजार में उतरने के बाद से ही कंपनी को घाटे का सामना करना पड़ रहा है.

कंपनी के 24.3 करोड़ और शेयर अक्टूबर के मध्य से लेकर नवंबर के मध्य तक बिक्री के लिए उपलब्ध हो जाएंगे जबकि 14 नवंबर, 2012 को बाजार में कंपनी के 1.2 अरब शेयर ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध होंगे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.