सीरिया:दमिश्क के पास बड़ी संख्या में शव मिले

 सोमवार, 27 अगस्त, 2012 को 03:37 IST तक के समाचार

सीरियाई सैनिकों पर आम लोगों की हत्या का आरोप लग रहा है

सीरिया में विपक्षी कार्यकर्ताओं का कहना है कि राजधानी दमिश्क से सटे एक शहर में बड़ी संख्या में लाशें मिली हैं. इनका आरोप है कि सरकारी सेनाओं ने नरसंहार किया है.

कार्यकर्ताओं का कहना है कि इनमें से ज्यादातर को दारया शहर के नजदीक फाँसी पर लटकाकर मारा गया है.

अपुष्ट खबरों के मुताबिक कुछ घरों और तहखानों में से करीब दो सौ शव बरामद किए गए हैं.

वहीं सीरिया के सरकारी टेलीविजन ने विपक्ष के आरोपों पर बिना कोई टिप्पणी करते हुए कहा है कि दारया शहर को चरमपंथी अवशेषों से खाली किया जा रहा था.

ब्रिटेन का कहना है कि यदि ये खबरें सही हैं तो इन हत्याओं को नए तरह का अत्याचार कहा जाएगा.

उप-राष्ट्रपति

इस बीच, सीरिया के उप-राष्ट्रपति फारूख अल-शारा ने दमिश्क में आए एक प्रतिनिधि मंडल का स्वागत किया है.

रविवार को अल शारा करीब महीने भर के बाद पहली बार सार्वजनिक रूप से सामने आए. ऐसी अफवाहें थीं कि उन्होंने सरकार से अलग होने की कोशिश की जिसके बाद उन्हें नजरबंद कर दिया गया.

राष्ट्रपति बशर अल-असद ने भी इस प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और कहा कि सीरिया अपनी मौजूदा नीति को जारी रखना चाहेगा. उन्होंने पश्चिमी देशों पर षड्यंत्र का भी आरोप लगाया है.

राष्ट्रपति असद की सेनाओं ने कई दिनों की बमबारी के बाद दारया शहर में शनिवार को धावा बोला था.

बेरुत में मौजूद बीबीसी संवाददाता बारबरा प्लेट का कहना है कि ये हमला राजधानी दमिश्क के दक्षिणी हिस्से में अपनी दावेदारी को मजबूत करने संबंधी अभियान का हिस्सा था जहां विद्रोहियों ने एक बार फिर एकजुट होना शुरू किया था.

घटनास्थल पर मौजूद कार्यकर्ताओं ने इंटरनेट पर कुछ अपुष्ट वीडियो भी अपलोड किए हैं जिसमें एक मस्जिद में बड़ी संख्या में रखे शवों को दिखाया गया है.

कार्यकर्ताओं के मुताबिक सरकारी सैनिकों ने लोगों के सिर और सीने में गोली मारी है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.