9/11: एयरलाइंस पर हर्जाने का मुकदमा जारी

 बुधवार, 5 सितंबर, 2012 को 21:36 IST तक के समाचार
वर्ल्ड ट्रेड सेंटर

ये अमरीकी जमीन पर सबसे बड़ा चरमपंथी हमला था

अमरीका के न्यूयॉर्क शहर में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के ट्विन टावर्स की मालिक कंपनी को 9/11 की घटना के संबंध में एयरलाइंस पर हर्जाने का मुकदमा जारी रखने की इजाजत मिल गई है.

ट्विन टावर्स के मालिकों को अदालत ने 'अमेरिकन एयरलाइंस' और 'यूनाइटेड एयरलाइंस' के खिलाफ़ हर्जाने का मुकदमा जारी रखने की अनुमति दी है. इन एयरलाइंस के विमानों को टावर्स में टकराया गया था.

मंगलवार को न्यूयॉर्क की एक केंद्रीय अदालत के जज ने ये मुकदमा शुरू करने का आदेश दिया.

जुलाई 2001 में ही वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की चार इमारतों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर प्रॉपर्टीज़ नाम की कंपनी ने पोर्ट अथोरिटी न्यूयॉर्क न्यूजर्सी से 2.8 अरब डॉलर में 99 साल की लीज़ पर लिया था.

लापरवाही के आरोप

अदालत में पेश दस्तावेज़ों में कंपनी ने बताया है कि अमेरिकन एयरलाइंस और यूनाइटेड एयरलाइंस ने यात्रियों को विमान में बिठाते समय सही जांच नहीं की जिसके कारण चरमपंथी विमान में सवार होने में कामयाब रहे और उन्होंने विमानों का अपहरण कर उन्हें ट्विन टावर्स से टकरा दिया.

अब वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कंपनी एयरलाइंस से 8.4 अरब डॉलर के हर्जाने की मांग कर रही है. कंपनी का कहना है कि तबाह होने वाले दोनों टावरों को दोबारा बनाने में इतनी ही लागत आती है.

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर

9/11 के हमले के नतीजे में भारी पैमाने पर तबाही हुई.

केंद्रीय अदालत के जज एलविन हेलर्सटाईन ने इस रकम को नकार दिया है. उन्होंने दोंनो टावरों के लिए हर्जाने की रकम सिर्फ़ 2.8 अरब डॉलर तक सीमित कर दी है. इतनी ही रकम पर वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कंपनी ने 2001 में ये टावर लीज पर लिए थे.

दूसरी तरफ अमेरिकन और यूनाइटेड एयरलाइंस ने अपनी ओर से किसी भी तरह की लापरवाही बरते जाने से इनकार किया है.

इन विमानन कंपनियों ने अदालत से कहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कंपनी को बीमा कंपनियों से पैसा मिल गया है जो चार अरब से भी ज़्यादा है और इससे उनके नुकसान की भरपाई भी पूरी हो जाती है.

'एयरलाइंसों की जिम्मेदारी'

लेकिन जज ने अमेरिकन और यूनाइटेड एयरलाइंस के तर्क को नकार दिया है. उनका कहना है कि वो अभी ये नहीं तय कर सकते कि वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कंपनी को बीमा कंपनियों से मिले पैसे उसके नुकसान की भरपाई होती है या नहीं.

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर कंपनी ने यह मुकदमा 2008 में दायर किया था लेकिन मंगलवार को इस मामले में अदालत ने मुकदमा जारी रखने का आदेश सुनाया गया.

इससे पहले 9/11 के हमलों में मारे गए लोगों के कुछ परिवार वालों को भी जज एलविन हेलर्सटाईन ने ही एयरलाइंस के खिलाफ़ मुकदमा शुरू करने का आदेश दिया था. उस समय भी जज ने कहा था कि एयरलाइंस को इस तरह विमान का अपहरण किए जाने जैसी घटनाओं की जिम्मेदारी लेनी होगी.

11 सितंबर 2001 के चरमपंथी हमलों के दौरान अमेरिकन एयरलाइंस का यात्री विमान उत्तरी टावर से टकराया जबकि यूनाइटेड एयरलाइंस के विमान से दक्षिणी टावर को निशाना बनाया गया था.

इन हमलों में लगभग 3000 लोग मारे गए थे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.