दुनिया का सबसे 'खतरनाक' गोल्फ़ कोर्स

 शुक्रवार, 21 सितंबर, 2012 को 00:08 IST तक के समाचार

चुनौतियों भरा एक गोल्फ कोर्स

काबुल का एकमात्र गोल्फ कोर्स क्यों है खतरों से भरा?

देखिएmp4

इस ऑडियो/वीडियो के लिए आपको फ़्लैश प्लेयर के नए संस्करण की ज़रुरत है

वैकल्पिक मीडिया प्लेयर में सुनें/देखें

गोल्फ कोर्स का नाम सुनते ही दिमाग में हरी-भरी ज़मीन की छवि उभरती है, जहां दूर-दूर तक हरियाली के अलावा कुछ दिखाई ही नहीं देता.

लेकिन फ़र्ज़ कीजिए कि आप ऐसे गोल्फ कोर्स में खड़े हैं जो सुरक्षाकर्मियों से घिरा हो क्योंकि वहां खेलना खतरे से खाली नहीं है.

जी हां, ऐसा ही गोल्फ कोर्स मौजूद है अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में जिसका नाम दुनिया के सबसे चुनौतिपूर्ण गोल्स कोर्सेस में गिना जाता है.

2004 में तालिबान के पतन के बाद काबुल में अफग़ानिस्तान का पहला गोल्फ कोर्स खुला जिसे उस मैदान में बनाया गया जहां सैंकड़ों बारूदी सुरंगें मौजूद थीं.

जहां स्थानीय लोगों को ये गोल्फ कोर्स आम ही लगता है बाहर से आने वाले लोगों को ये गोल्फ कोर्स किसी अजूबे से कम नहीं लगता.

अफगानिस्तान में गोल्फ का चलन तो है नहीं, तो ज़ाहिर है कि ये गोल्फ कोर्स केवल पश्चिमी राजनयिकों को अपनी ओर खींच लाता है.

खासियत

कुछ समय पहले तक इस गोल्फ कोर्स में सैंकड़ों बारूदी सुरंगें मौजूद थी.

ये गोल्फ कोर्स आम गोल्फ कोर्सों की तरह हरा-भरा नहीं है बल्कि यहां दूर-दूर तक पीली बंजर ज़मीन ही देखने को मिलती है क्योंकि अब भी यहां निर्माण का काम पूरा नहीं हो पाया है.

पश्चिमी राजनयिकों के मुताबिक ये दुनिया के सबसे खतरनाक गोल्फ कोर्सों में से एक है क्योंकि यहाँ खेलने के लिए उन्हें सुरक्षा का खास ख्याल रखना पड़ता है.

बीबीसी संवाददाता क्वेंटिन समरविल ने यूरोपीय संघ के एक राजदूत से बात की जो इस गोल्फ कोर्स में नियमित रूप से खेलने आते हैं.

उनका कहना था, “हर वो शख्स जो खुद को एक अच्छा गोल्फर मानता है, उसे काबुल के इस गोल्फ कोर्स में आकर खेलना चाहिए. हालांकि इस गोल्फ कोर्स के बींचो-बीच एक सड़क निकलती है और बिजली की तारें भी कहीं भी बॉल का रास्ता रोक लेती हैं, लेकिन इन्हीं बातों में तो इस गोल्फ कोर्स की खासियत मौजूद है. कुछ समय पहले तो यहां ढेरों बारूदी सुरंगें भी मौजूद थीं, लेकिन अब उन्हें हटा लिया गया है.”

काबुल के गोल्फ कोर्स में खेलने के लिए सब्र और दृढ़ संकल्प की ज़रूरत है क्योंकि यहां की ऊबड़-खाबड़ ज़मीन दुनिया के बड़े से बड़े गोल्फर के छक्के छुड़ा सकती है!

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.