'इस्लाम विरोधी' फ़िल्म की अभिनेत्री निर्माता पर गर्म

  • 20 सितंबर 2012
Image caption फिल्म के कथित निर्माता नाकुला बासेले नाकुला विवाद के बाद भूमिगत हो गए हैं

दुनिया भर में बवाल मचा रही ‘इस्लाम-विरोधी’ अमरीकी फिल्म की एक्ट्रेस सिंडी ली गार्सिया ने फिल्म निर्माता के खिलाफ अदालत में मामला दर्ज किया है.

उनका कहना है कि उन्हें फिल्म का ऑफर देने से पहले निर्माता नकुला बासेले नकुला ने उन्हें सिर्फ इतना बताया था कि ये फिल्म पुरातन काल के मिस्र में जोखिम भरी कहानियों के बारे में है.

सिंडी का कहना है कि उन्हें इस बात का कतई अंदाज़ा नहीं था कि ये फिल्म इस्लाम-विरोधी प्रचार से जुड़ी है.

उन्होंने न्यायाधीश से ये गुहार भी लगाई है कि वो इस फिल्म को यू-ट्यूब से हटाने का आदेश दें.

‘इनोसेंस ऑफ मुस्लिम्स’ नाम की इस फिल्म ने मध्य पूर्व देशों समेत उत्तरी अफ्रीका में भीषण तनाव पैदा कर दिया था क्योंकि मुसलमानों ने इसे ईशनिंदा वाली फ़िल्म करार दिया था.

दरअसल इस फिल्म में एक क्लिप है जिसमें पैगंबर मोहम्मद का ‘अपमान’ किया गया है.

फिल्म का सबसे पहला असर दिखा लीबिया में दिखा, जहां बेनगाज़ी के वाणिज्य दूतावास पर हमला किया गया जिसमें चार अमरीकी अधिकारी मारे गए थे.

‘अंधेरे में रखा’

एक्ट्रेस सिंडी के मुताबिक फिल्म की जो स्क्रिप्ट उन्हें दी गई थी, उसमें पैगंबर मोहम्मद और इस्लाम धर्म से जुड़ा कोई ज़िक्र ही नहीं था.

उनका दावा है कि जबसे यू-ट्यूब पर ये वीडियो लगा है, उन्हें जगह-जगह से धमकियां मिल रही हैं.

बुधवार को सिंडी ने लॉस एंजेलेस के उच्चतम न्यायालय में गुहार लगाई और कहा कि उनके साथ धोखा हुआ है, जिसके कारण उन्हें मानसिक तनाव का सामना करना पड़ रहा है.

सिंडी के वकील का कहना है कि फिल्म में विवादास्पद डायलॉग बाद में डाले गए थे.

उन्होंने कहा, “जब फिल्म की शूटिंग चल रही थी, तब पैगंबर मोहम्मद से जुड़ा कोई भी डायलॉग सिंडी को नहीं दिया गया था. जान बूझकर इस फिल्म में उनका चित्रण ईशनिंदा करने वाले एक शख्स के रूप में किया गया है. उन्हें अपनी निजी ज़िंदगी का बचाव करने का पूरा हक है.”

अंडरग्राउंड हुए निर्माता

इस बीच फिल्म के निर्माता नकुला बासेले भूमिगत हो गए हैं.

उन्होंने अमरीकी मीडिया के सामने ये कबूल किया था कि वही उस कंपनी के मालिक हैं जिसने ये फिल्म बनाई थी.

अमरीकी अधिकारियों का मानना है कि नकुला ही इस फिल्म के निर्माता हैं.

साल 2010 में नकुला के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था जिसके बाद उन्हें जून 2011 में इस शर्त पर रिहा किया गया था कि वे इंटरनेट का उपयोग बिना इजाज़त के नहीं कर सकेंगे.

यू-ट्यूब ने अपनी वेबसाइट से फिल्म हटाने से इंकार कर दिया है, हालांकि सउदी अरब, लीबिया, मिस्र और भारत जैसे देशों में सुरक्षा चिंताओं के कारण इस फिल्म को यू-ट्यूब से हटा लिया गया है.

यू-ट्यूब के प्रवक्ता ने कहा कि ये मामला कोर्ट में आने के बाद ही वे इस बात पर फैसला ले पाएंगें कि फिल्म को उनकी वेबसाइट से स्थायी रूप से हटाया जाए या नहीं.

संबंधित समाचार