BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
लाल क़िला दुनिया की धरोहरों में शामिल
 
दिल्ली का लाल क़िला
लाल क़िला मुग़ल स्थापत्य कला की एक बेहतरीन मिसाल है
संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक मामलों की संस्था यूनेस्को ने दुनिया भर की धरोहरों की सूची में अब दिल्ली के ऐतिहासिक लाल क़िले को भी शामिल कर लिया है.

लाल क़िले समेत दुनिया की चार विरासतों को इस सूची में जोड़ा गया है जिसमें पहले से ही दुनिया भर के 830 सांस्कृतिक स्थल मौजूद हैं.

यूनेस्को की प्रवक्ता सू विलियम ने कहा कहा, "हर ऐतिहासिक धरोहर स्थल का दौरा विशेषज्ञों का एक दल करता है और उस स्थल के रखरखाव और प्रबंधन का जायज़ा लेता है जिसके बाद ये फ़ैसला किया जाता है."

यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में इस समय 830 स्थल हैं जो अफ़ग़ानिस्तान से लेकर ज़िम्बाब्वे तक फैले हैं. ये स्थल 1972 से लेकर नियमित रूप से इस सूची में जोड़े जाते रहे हैं.

लाल क़िला

लाल क़िले के अलावा जो अन्य तीन स्थल इस सूची में शामिल किए गए हैं उनमें जापान के होंशू द्वीप में स्थित इवामी गिन्ज़ेन चांदी की खानें हैं. इस इलाक़े में अनेक पहाड़ियाँ हैं जिनमें से कुछ की ऊँचाई 600 मीटर तक है.

ऑस्ट्रेलिया का सिडनी ओपेरा हाउस और तुर्कमेनिस्तान के पर्थियान क़िला परिसर को भी इस सूची में शामिल किया गया है.

लाल क़िले का निर्माण मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने कराया था.

मुग़ल शासक शाहजहाँ 1628 से 1658 तक गद्दी पर बैठे थे और उन्होंने जब दिल्ली यानी शाहजहाँनाबाद को अपनी राजधानी बनाया तो अनेक इमारतें बनवाईं जिनमें दिल्ली की जामा मस्जिद और आगरे का ताज महल शामिल हैं.

लाल क़िले का दीवाने आम
लाल क़िला स्थापत्य कला का एक बेहतरीन नमूना है

दिल्ली का लाल क़िला लाल पत्थर से बना हुआ है और वास्तुकला का एक अनोखा नमूना है. यूनेस्को की इस सूची में शामिल किए गए दिल्ली लाल क़िला परिसर में एक पुराना क़िला भी शामिल है जो सलीमगढ़ इलाक़े में है और उसका निर्माण इस्लाम शाह सुरी ने 1546 में कराया था.

लाल क़िला सैन्य रणनीति के लिहाज़ से तो बहुत मज़बूत माना ही जाता था लेकिन वह रहने के लिए भी एक अनोखी इमारत रहा है. उसमें बने सभी कमरे एक नहर से जुड़े हुए हैं जिसमें लगातार पानी बहता रहता था. उसका नाम नहरे-बहिश्त यानी स्वर्ग की नदी रखा गया था.

लाल क़िला ब्रितानी साम्राज्य के तहत भी राजनीतिक गतिविधियों का केंद्र रहा और स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद भी वह राष्ट्रीय प्रतीक के रूप में मशहूर रहा है. भारत का प्रधानमंत्री हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर लाल क़िले पर ही राष्ट्रीय ध्वज फ़हराता है.

लाल क़िले को दिसंबर 2003 में क़रीब साढ़े पाँच दशक के बाद सेना के हाथों से लेकर पर्यटन मंत्रालय और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण को सौंप दिया गया था.

विभिन्न क्षेत्रों में मुग़ल शासकों की जो रचनात्मकता नज़र आई, शाहजहाँ के दौर में वह शीर्ष पर पहुँच गई थी.

लाल क़िले की वास्तुकला पर इस्लामी शैली की छाप है लेकिन उसमें पारसी, तैमूरी और हिंदू वास्तुकला शैलियों का भी मिला-जुला असर है. जिस तरह से मुग़लों ने इमारतें बनवाईं उनसे एक नई मुग़ल स्थापत्य शैली ही बन गई.

अन्य इमारतें

यूनेस्को कि विश्व विरासत सूची में अब कुल मिलाकर भारत के 27 स्थल शामिल हो चुके हैं जिनमें सबसे पहले ताजमहल को शामिल किया गया था.

यूनेस्को ने सबसे पहले 1983 में भारत के कुछ ऐतिहासिक और सांस्कृतिक स्थलों को इस सूची में शामिल किया था और उस वर्ष आगरा क़िला परिसर, ताज महल, अजंता और एलोरा की गुफ़ाएँ शामिल हुई थीं.

आगरा का ताजमहल
भारतीय इमारतों में सबसे पहले ताजमहल को इस सूची में शामिल किया गया था

1984 में महाबलीपुरम को शामिल किया गया था और उसके बाद 1985 में तीन स्थलों को इस सूची में जोड़ा गया, ये हैं कोणार्क का सूर्य मंदिर, राजस्थान का केवलादेव पक्षी राष्ट्रीय पार्क और मानस वन्य जीव अभयारण्य.

1986 में चार स्थलों को शामिल किया गया--गोवा के चर्च, आगरा के पास फ़तेहपुर सीकरी परिसर, हम्पी और खजुराहो. 1987 में एलीफ़ेंटा गुफ़ाओं को भी इस सूची में जोड़ा गया.

उसके बाद के वर्षों में सुंदरबन राष्ट्रीय पार्क, नंदा देवी और पुष्प राष्ट्रीय उद्यान, साँची का बौद्ध स्तूप, दिल्ली में हुमायूँ का मक़बरा, क़ुतुब मीनार और उसके आसपास की इमारतें, बोध गया में महाबोधि मंदिर परिसर, मुंबई का छत्रपति शिवाजी रेल टर्मिनस जैसे स्थल शामिल हैं.

पाकिस्तान के छह स्थल अब तक इस सूची में हैं जिनमें मोहनजोदाड़ो, तक्षशिला, लाहौर का शालीमार बाग़ और क़िला, थट्टा के ऐतिहासिक अवशेष और रोहतास क़िले को शामिल किया गया है.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
1857 की कहानी, ग़ालिब की ज़बानी
20 मई, 2007 | भारत और पड़ोस
लाल क़िले को मिली सेना से मुक्ति
22 दिसंबर, 2003 | भारत और पड़ोस
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>