फ़ेसबुक पर पाबंदी ख़त्म करने के आदेश

फ़ेसबुक के विरुद्ध प्रदर्शन
Image caption फ़ेसबुक सामाजिक संपर्क की वेबसाइट है

लाहौर हाई कोर्ट ने पैग़म्बर मोहम्मद की तस्वीरों के हवाले से फ़ेसबुक पर लगी पाबंदी को ख़त्म करने का आदेश दिया है.

लाहौर हाई कोर्ट ने पाकिस्तान में इस सामाजिक संपर्क की वेबसाइट पर 19 मई को पाबंदी लगाने का आदेश दिया था.

न्यायधीश एजाज़ अहमद चौधरी ने ये आदेश 'इस्लामिक लॉयर्स मूवमेंट' की उस याचिका पर दिया था जिसमें कहा गया था कि फ़ेसबुक पर पैग़म्बर मोहम्मद की तस्वीर बनाने की एक प्रतियोगिता कर रही है इसलिए उस वेबसाइट पर पाबंदी लगाई जाए.

न्यायधीश एजाज़ अहमद ने दूरसंचार विभाग को आदेश दिया था कि वे पाकिस्तान में फ़ेसबुक के प्रयोग पर अगले आदेश तक पाबंदी लगा दे.

लाहौर से बीबीसी संवाददाता का कहना है कि बुधवार को दूरसंचार विभाग ने अदालत को बताया कि फ़ेसबुक के उन भागों को बंद कर दिया गया है जिन पर पैग़म्बर मोहम्मद के कार्टून बनाने का मुक़ाबला हो रहा है.

लेकिन अर्ज़ी दाख़िल करने वाले संगठन के वकील ने ये आपत्ति जताई कि वेबसाइट के किसी हिस्से को उस समय तक बंद नहीं किया जा सकता जब तक कि उसे पूरी तरह से ब्लॉक न कर दिया जाए.

और भी पाबंदी

Image caption पाकिस्तान के वकील के अनुसार फ़ेसबुक पर चीन, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात में पाबंदी है

'इस्लामिक लॉयर्स मूवमेंट' के वकील चौधरी ज़ुल्फ़िकार अली ने ये भी कहा कि पाकिस्तान एक इस्लामी राष्ट्र है और संविधान के अनुच्छेद 2-ए के तहत देश में कोई भी ऐसा काम नहीं किया जा सकता जो इस्लाम के विरुद्ध हो.

उनका कहना था कि फ़ेसबुक पर कई ऐसे प्रोग्राम हैं जो इस्लाम के नियमों का उल्लंघन करते हैं और उसी साइट पर पैग़म्बर मोहम्मद के चित्र बनाने की प्रतियोगिता हो रही है जिससे मुसलमानों में गहरी चिंता पाई जाती है और उनकी भावनाएं आहत हुई हैं.

वकील के मुताबिक़ चीन, संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब ने फ़ेसबुक पर पाबंदी लगा रखी है. वकील ने ये भी बताया कि इस समय पाकिस्तान में चार करोड़ पचास लाख लोग फ़ेसबुक का प्रयोग कर रहे हैं और पाकिस्तान दूरसंचार प्रबंधन को इस वेबसाइट पर पाबंदी लगानी है.

इसी संदर्भ में पाकिस्तान दूरसंचार प्रबंधन के प्रवक्ता ख़ुर्रम अली मेहरान का कहना है कि अदालत के आदेश पर अमल कराने के सिलसिले में काम शुरू हो चुका है और पीटीए ने इस संबंध में पाकिस्तानी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स को सूचना दे रही है.

संबंधित समाचार