'नहीं सौंपेंगे मुंबई के हमलावरों को'

ज़रदारी
Image caption पाकिस्तान के राष्ट्रपति इन दिनों चीन की यात्रा पर हैं

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी ने कहा है कि मुंबई हमलों के संदिग्धों को भारत के हवाले नहीं किया जाएगा.

उन्होंने कहा, "मुंबई हमले के संदिग्धों को भारत सौंपे जाने का कोई भी समझौता पाकिस्तान के साथ नहीं है. पाकिस्तान की अदालत इन सभी के साथ इंसाफ करेगी."

ज़रदारी इन दिनों चीन की सरकारी यात्रा पर हैं.

चीन के एक टेलिविजन चैनल से बात करते हुए ज़रदारी ने भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंधों का समर्थन किया. उन्होंने कहा, "मुंबई हमलों के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत रूक गई थी, लेकिन अब इसकी फिर से शुरुआत अच्छी बात है."

उन्होंने कहा कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए खतरा है और महाशक्तियां भी इस खतरे से अछूती नहीं हैं.

चीन-पाक परमाणु समझौता

चीन के साथ पाकिस्तान के परमाणु समझौते पर ज़रदारी ने कहा, "अमरीका के साथ जब भारत का परमाणु समझौता हुआ था तो हमने इसका विरोध नहीं किया था. भारत को भी चीन-पाक असैनिक परमाणु समझौते पर विरोध नहीं जताना चाहिए."

चीन का कहना है कि पाकिस्तान के साथ उसका असैनिक परमाणु सहयोग शांतिपूर्ण है. चीन के विदेश मंत्रालय का कहना है कि पाकिस्तान को दो नए रिएक्टर देने की योजना अंतरराष्ट्रीय बाध्यता के अनुरूप है. चीन परमाणु आपूर्ति समूह या एनएसजी का सदस्य है.

पाकिस्तान के पास इस समय तीन परमाणु रिएक्टर हैं जिनमें से एक सेना के उपयोग के लिए है. चीन के सहयोग से दो नए रिएक्टर लगने के बाद पाकिस्तान के पास चार परमाणु भट्टियां हो जाएंगी.

संबंधित समाचार