लाइफ़ लाइन पाकिस्तान: कैसे करें मदद

पाकिस्तान बाढ़

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह, पंजाब और सिंध प्रांत में विनाशकारी बाढ़ से बड़ी संख्या में लोग विस्थापित हुए हैं. इनमें से कई लोग अस्थाई शिविरों में रह रहे हैं.

अब भी बड़ी संख्या में बाढ़ पीढ़ितों को कोई छत भी उपलब्ध नहीं कराई गई है.

पाकिस्तान में बाढ़ के प्रकोप और राहत और बचाव कार्यों पर बीबीसी रेडियो कार्यक्रमों की एक विशेष श्रृंखला 'लाइफ़ लाइन पाकिस्तान' आप सोमवार 9 अगस्त से सुन सकते हैं.

बीबीसी उर्दू सेवा के 10 मिनट के रेडियो प्रसारण दिन में तीन बार उर्दू और पश्तो भाषाओं में प्रसारित किए जाएँगे.

कार्यक्रम का समय

पाकिस्तानी समयानुसार कार्यक्रम 12:30, 15:30 और 18:30 (7:30, 10:30 और 13:30 जीएमटी) पर प्रसारित होंगे.

ये कार्यक्रम पाकिस्तान में बीबीसी के एफ़एम पार्टनर्स की फ़्रीक्वेंसी पर भी सुने जा सकते हैं.

इस प्रोजेक्ट के प्रमुख बीबीसी उर्दू के शफ़ी नक़ी जामी ने बताया, "इन कार्यक्रमों का उद्देश्य ये है कि बाढ़ पीढ़ितों की सहायता कैसे की जा सके. चाहे ये मदद सरकारी स्तर पर हो या फिर निजी क्षेत्र की तरफ़ से हो."

उनका कहना था, "बाढ़ के दौरान स्थिति काफ़ी गंभीर होती है और पीड़ितों को कुछ पता नहीं होता है. इन कार्यक्रमों में जानकारी दी जाएगी कि सहायता कहाँ है, कौन कौन से क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है और समस्याओं का समधान क्या है?"

शफ़ी नक़ी जामी के अनुसार ये कार्यक्रम पूर्ण रुप से कल्याणकारी है और किसी प्रकार की राजनीति का इससे कोई संबंध नहीं है.

संबंधित समाचार