घोड़ों और गधों के लिए आपातकालीन सेवा

पाकिस्तान में बाढ़
Image caption पाकिस्तान में आई बाढ़ से जानवरों के लिए भी अस्तित्व का संकट खड़ा हो गया है

दुनिया भर की राहत संस्थाएं जहां एक तरफ़ पाकिस्तान में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आ रही हैं, वहीं जीव-प्रेमी भी इस काम में पीछे नहीं हैं.

ब्रिटेन की एक चैरिटी संस्था 'द ब्रुक' ने पाकिस्तान में आई भीषण बाढ़ में फंसे हज़ारों घोड़ों और गधों के लिए एक आपातकालीन सेवा शुरू की है.

ब्रुक विकासशील देशों में घोड़ों और गधों के कल्याण के लिए काम करती है.

माना जाता है कि इस बाढ़ से तकरीबन 75,000 घोड़े और गधे प्रभावित हुए हैं. अगर बाढ़ की यही स्थिति बनी रहती है, तो यह संख्या तेज़ी से बढ़ भी सकती है.

इस संस्था की टीमें पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा और सिंध में पहले से ही काम कर रही हैं.

ये लोग घोड़ों और गधों को आपातकालीन इलाज, टीकाकरण, चारा और साफ पानी मुहैया करा रहे हैं.

सेवाओं की मांग

ब्रुक की पाकिस्तान स्थित इकाई के मुख्य कार्यकारी मोहम्मद फारूक मलिक ने बीबीसी को बताया, "हम ऐसे इकलौते संगठन हैं जो इस घड़ी में घोड़ों और गधों के लिए काम कर रहे हैं. इस कारण हमारी सेवाओं की काफ़ी मांग है. जैसे-जैसे बाढ़ का दिन गुजरेगा घोड़े और गधों के लिए पानी से पैदा होने वाली बीमारियों के खतरे बढ़ते जाएंगे. हम इनकी हरसंभव मदद करेंगे."

ब्रुक ने अभी तक तकरीबन 2,000 ज़रूरतमंद घोड़ों और गधों का इलाज किया है और उनका टीकाकरण किया है. ब्रुक की टीमें स्थानीय लोगों को फर्स्ट ऐड स्किल्स का प्रशिक्षण भी दे रही हैं ताकि किसी बीमारी के समय वे अपने जानवरों की मदद कर सकें.

ब्रुक का उद्देश्य है कि अगले कुछ हफ़्तों में पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा और सिंध प्रांतों में तकरीबन 5,000 घोड़ों, गधों और अन्य जानवरों का इलाज किया जाए.

संबंधित समाचार