बाढ़ से बलूचिस्तान में भारी तबाही

फाइल फोटो
Image caption बाढ़ का क़हर अब बलूचिस्तान पर है

पाकिस्तान के शहर कंधकोट के पास तटबंध टूटने के बाद सिंधु नदी ने बलूचिस्तान के ज़िलों में भारी तबाही मचाई है.

ज़िला जाफ़राबाद के शहर डेरा अल्लाहयार और झटपट पानी में डूब गए हैं और इन इलाक़ों के लाखों लोगों ने बलूचिस्तान के दूसरे शहरों की ओर पलायन शुरु कर दिया है.

जेकबाबाद शहर के पास अमरीकी सेना के इस्तेमाल वाले शहबाज़ एयरबेस को बचाने के लिए क्वैटा जानी वाली एक सड़क को तोड़ा गया जिसकी वजह से बाढ़ का पानी बलूचिस्तान के शहर नसीराबाद और जाफ़राबाद में घूस गया.

ज़िला नसीराबाद के वरिष्ठ अधिकारी शेर ख़ान बाज़ई ने बीबीसी को बताया कि ज़िले में आपातकाल लागू कर दिया गया है और बाढ़ में फँसे हुए लोगों को निकालने का काम शुरु कर दिया गया है.

उन्होंने बताया कि लोगों को निकालने के लिए सेना की मदद ली गई है और सेना के हेलीकॉप्टर फँसे हुए लोगों को निकाल रहे हैं.

आपात स्थिति

उधर जाफ़राबाद के वरिष्ठ अधिकारी सईद जमाली ने बताया कि बाढ़ पीढ़ितों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की गई है ताकि लोगों को प्रांत के दूसरे शहरों में लाया जा सके.

लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें सरकार की ओर से कोई वाहन नहीं मिल सका है और वह अपनी मदद आप के तहत सुरक्षित स्थानों की ओर जा रहे हैं.

नसीराबादा के स्थानीय पत्रकार निदा अहमद ने बताया कि हज़ारों लोग पैदल सुरक्षित स्थानों की ओर जा रहे हैं जिसमें बच्चे और महिलाएँ भी शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि अधिकतर लोगों के पैर में जूते भी नहीं हैं.

संबंधित समाचार