बाढ़ से बीमारी का ख़तरा:यूनिसेफ

बाढ
Image caption बाढ़ से बीमारियों का ख़तरा बढ़ गया है.

संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनिसेफ के प्रमुख डेविड बिल ने कहा है कि पाकिस्तान के बाढ़ ग्रस्त इलाक़ों में बीमारियाँ फैलने की वजह से कई लोग मर सकते हैं जिसे रोकना बहुत ज़रुरी है.

पाकिस्तान के इतिहास की सबसे विनाशकारी बाढ़ की शुरुआत करीब दो सप्ताह पहले हुए थी और इससे अब तक क़रीब दो करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं.

डेविड बिल ने बीबीसी ने बात करते हुए कहा, “बारिश जारी है और हमें बताया गया है कि आने वाले कुछ दिनों में और बाढ़ आ सकती है और इससे स्थिति गंभीर होगी.”

उन्होंने आगे कहा, “अपना घर छोड़ कर आने वालों के लिए हमने ख़ेमों की व्यवस्था की है और पीड़ितों की बहाली में अभी काफ़ी समय लग सकता है.”

डेविड बिल ने बताया, “हमें पेट की बीमारी से होने वाली मौतों को रोकने की ज़रूरत हैं और हमारे पास हैज़े के एक मरीज़ की पुष्टि हो चुकी है. यह बीमारी अभी तक फैली नहीं है लेकिन इसे यहीं रोकना होगा.”

उधर रेड क्रॉस ने कहा है कि पाकिस्तान में बाढ़ से हुआ विनाश इतना व्यापक है कि अगर अंतरराष्ट्रीय राहत एजेंसियाँ मिल कर पाकिस्तान सरकार का साथ दें तो भी संसाधन इतने नहीं हैं.

इंटरनेशनल कमिटी ऑफ रेड क्रॉस के पाकिस्तान प्रमुख पास्कल क्यूते ने बीबीसी के रज़ा हमदानी को बताया कि उनकी संस्था ने अभी तक अंतरराष्ट्रीय साहयता के लिए अपील नहीं की है.

उन्होंने आगे कहा, “यह इतनी बड़ी तबाही है कि हम अभी भी इसका सर्वेक्षण कर रहे हैं और एक बार सर्वेक्षण पूरा हो जाएगा तो सहायता के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील करेंगे.”