हकीमुल्लाह पर ईनाम 50 लाख डॉलर

हकीमुल्लाह महसूद
Image caption हकीमुल्लाह महसूद तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रमुख हैं

अमरीकी विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के क़बायली संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान को प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल कर लिया है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय के मुताबिक़ विदेश मंत्री हेलेरी क्लिंटन ने इस संगठन को एक सितंबर से प्रतिबंधित संगठनों में शामिल किया है.

इसके अलावा अमरीका ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के दो नेताओं - हकीमुल्लाह महसूद और वलीउर्रहमान को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी भी क़रार दिया है.

अमरीकी क़ानून मंत्रालय ने दोनों तालिबान नेताओं पर 50-50 लाख डालर के ईनाम की घोषणा की है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय के मुताबिक़ प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने पाकिस्तानी और अमरीकी हितों पर कई हमलों की ज़िम्मदारी क़बूल की है.

हकीमुल्लाह महसूद अगस्त 2009 से तहरीक-ए-तालिबान के प्रमुख हैं जबकि वलीउर्रहमान दक्षिणी वज़ीरिस्तान में तालिबान के नेता हैं.

'चार्जशीट दायर'

Image caption अमरीकी विदेश मंत्रालय ने हाल में कई पाक स्थित चरमपंथी संगठनों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की है

दूसरी ओर अमरीका ने 30 दिसंबर को अफ़ग़ानिस्तान के इलाक़े ख़ोस्त में सात 'सीआईए एजेंटों' की हत्या में हकीमुल्लाह महसूद के ख़िलाफ़ चार्जशीट दायर कर दी है.

आत्मघाती हमले में सात एजेंटों की मौत हो गई थी. इस हमले की ज़िम्मेदारी क़बूल करते हुए तालिबान ने कहा था कि अफ़ग़ान फ़ौज में शामिल उनके एक साथी ने यह हमला किया है.

तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने बीबीसी से बात करते हुए कहा था कि ख़ुदकुश हमलावर ने फ़ौजी वर्दी पहन रखी थी और उन्होंने फ़ौजी अड्डे की सुरक्षा को धोखा देते हुए अडडे के व्यायाम गृह में धमाका किया था.

संबंधित समाचार