ड्रोन हमले में आठ चरमपंथी मरे

अमरीकी प्रीडेटर ड्रोन
Image caption इस क्षेत्र में पिछले एक महीने में 26 ड्रोन हमले हुए हैं

पाकिस्तान में ख़ुफ़िया अधिकारियों का कहना है कि देश के उत्तर-पश्चिम इलाक़े में एक अमरीकी ड्रोन हवाई हमले में कम से कम आठ चरमपंथी मारे गए है.

ख़बरों के मुताबिक मारे गए चरमपंथी अरबी मूल के जर्मन नागरिक हो सकते हैं.

अधिकारियों ने बीबीसी को बताया है कि इनलोगों पर अल-क़ायदा का सदस्य होने का संदेह था.

एक रिपोर्ट के मुताबिक मारे गए चरमपंथी इस क्षेत्र शायद प्रशिक्षण के लिए आए थे.

ड्रोन हमला

अधिकारियों ने बीबीसी को बताया है कि ड्रोन यानि चालक रहित विमान ने एक स्थानीय क़बाईली के घर पर दो मिसाइल दाग़े जिसमें ये चरमपंथी मारे गए.

पिछले एक महीने के भीतर इस क्षेत्र में 26 ड्रोन हमले हुए हैं जिनमें कई नामी-गिरामी चरमपंथी मारे गए हैं. इन हमलों में एक वरिष्ठ तालिबान नेता के मारे जाने की भी बात की गई है.

स्थानीय निवासियों ने बीबीसी संवाददाता सैय्यद शोएब हसन को बताया है कि चरमपंथी मीर अली शहर से तीन किलोमीटर दूर स्थित एक गांव में शेर मुल्ला नामक कबाईली नेता के घर पर मौजूद थे.

शेर मुल्ला स्थानीय तालिबान प्रमुख हाफ़िज़ गुल बहादुर के क़रीबी बताए जाते हैं.

हमले में घर पूरी तरह तबाह हो गया है. चार चरमपंथियों के अलावा कई लोग घायल भी हुए हैं.

संबंधित समाचार