बेनज़ीर मामले में पुलिस अधिकारियों पर शिकंजा

बेनज़ीर भुट्टो

पाकिस्तान में आतंकवाद निरोधक एक अदालत ने दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की गिरफ़्तारी के आदेश दिए हैं.

इन दोनों पर आरोप है कि वे पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने में नाकाम रहे.

वर्ष 2007 में रावलपिंडी में बेनज़ीर भुट्टो की हत्या कर दी गई थी. विशेष वकील चौधरी ज़ुल्फ़िकार अली ने कहा कि ये दोनों अधिकारी बेनज़ीर की सुरक्षा के प्रभारी थे.

लेकिन ये दोनों अधिकारी पर्याप्त व्यवस्था करने में विफल रहे.

आपत्ति

और तो और इन अधिकारियों ने घटनास्थल को पानी से धुलवा दिया हालाँकि अन्य अधिकारियों ने इस पर आपत्ति जताई थी.

इन अधिकारियों में एक रावलपिंडी पुलिस के पूर्व प्रमुख सऊद अज़ीज़ और दूसरे उनके जूनियर अधिकारी ख़ुर्रम शहज़ाद हैं.

वर्ष 2007 में वतन वापसी के कुछ दिनों के अंदर ही एक चुनाव रैली में बेनज़ीर भुट्टो की हत्या कर दी गई थी.

संयुक्त राष्ट्र के एक जाँच आयोग ने अपनी रिपोर्ट में पाकिस्तानी अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए थे. रिपोर्ट में कहा गया था कि कई अधिकारियों ने जाँच में रूकावट डाली.

ये भी कहा गया कि अगर विश्वसनीय जाँच हो तो देश के सैनिक और सुरक्षा अधिकारियों के शामिल होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

संबंधित समाचार