हक़्क़ानी का बेटा गिरफ़्तार

जलालुद्दीन हक़्क़ानी
Image caption नसीरुद्दीन हक़्क़ानी जलालुद्दीन हक़्क़ानी (तस्वीर में) का बेटा है.

पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में सक्रिय चरमपंथी हक़्क़ानी गुट के एक अहम नेता नसीरुद्दीन हक़्क़ानी को पाकिस्तान में गिरफ़्तार कर लिया गया है. नसीरुद्दीन हक़्क़ानी इस दल के संस्थापक जलालुद्दीन का बेटा है. इस गिरफ़्तारी को काफ़ी अहम माना जा रहा है. इस दल के ख़िलाफ़ अफ़गानिस्तान में भारत के हितों और संपत्तियों पर कई हमले करने का इलज़ाम है.

यह दल तालिबान के बाद अफ़गानिस्तान में अमरीकी सेना का सबसे बड़ा दुश्मन माना जाता है.

वॉशिंगटन में पाकिस्तानी दूतावास के सूत्रों ने कहा है कि ये गिरफ़्तारी एक-दो दिन पहले हुई है.

सूत्रों के अनुसार नसीरुद्दीन को उस समय पकड़ा गया जब वो अपने वाहन में पेशावर से उत्तरी वज़ीरिस्तान जा रहा था. उसे पाकिस्तानी अधिकारियों ने गिरफ़्तार किया है.

अमरीकी दवाब

पाकिस्तान पर अमरीका ने पिछले कुछ महीनों से उत्तरी वज़ीरिस्तान में अल-क़ायदा और हक़्क़ानी दल के ठिकानों पर सैनिक कार्रवाई शुरू करने का दबाव बनाया हुआ है.

यहाँ वाशिंगटन में कई विशेषज्ञ खुले तौर पर कहते हैं की हक़्क़ानी दल को पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई का समर्थन हासिल है. पाकिस्तान ने हमेशा इन आरोपों का खंडन किया है.

अभी हाल में अमरीका ने उत्तरी वज़ीरिस्तान पर ड्रोन हमलों में कई गुना बढ़ोतरी कर दी है. वाशिंगटन में लोगों का कहना है की यह हमले पाकिस्तान पर दबाव डालने के लिए भी किए जाते हैं ताकि पाकिस्तान इन चरमपंथी तत्वों के ख़िलाफ़ कार्रवाई तेज़ कर दे. अमरीकी सूत्रों के अनुसार नासीरुद्दीन पर अपने दल के लिए चंदा इकठ्ठा की ज़िम्मेदारी थी.

नसीरुद्दीन अमरीका की 'वांटेड लिस्ट' में शामिल है. अब यहाँ दिलचस्पी इस बात पर है कि पाकिस्तान नसीरुद्दीन को अमरीका के हवाले करता है या नहीं. राष्ट्रपति बुश के ज़माने में पाकिस्तान ने कई चरमपंथियों को पकड़ कर अमरीका के हवाले किया है.

संबंधित समाचार