बेनज़ीर हत्याकांड का अभियुक्त रिहा

तालिबान

पंजाब के क़ानून मंत्री राणा सनाऊल्लाह ने इस बात की पुष्टि की है कि पूर्व प्रधानमंत्री भुट्टो की हत्या के आरोप में गिरफ़्तार अभियुक्त क़ारी सैफ़ुल्लाह को रिहा कर दिया गया है.

उन्होंने लाहौर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, “जब 18 अक्तूबर 2007 को पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो पर कराची में हमला हुआ था तो उस के आरोप में क़ारी सैफ़ुल्लाह को गिरफ्तार किया गया था और जाँच के बाद उन्हें रिहा किया गया.”

ग़ौरतलब है कि 18 अक्तूबर 2007 को बेनज़ीर भुट्टो के क़ाफले पर उस समय बम हमला किया गया जब वे कई सालों के निर्वासन के बाद स्वदेश लौटी थी.

राणा सनाऊल्लाह के अनुसार क़ारी सैफ़ुल्लाह को बनेज़ीर भुट्टो की हत्या के आरोप में भी गिरफ्तार किया था लेकिन बाद में उन्हें उस मुक़दमे से भी रिहा किया गया.

प्रांतीय मंत्री ने बताया, “जब उन्हें दो महत्वपूर्ण मुक़दमों से रिहा कर दिया गया तो अब बग़ैर किसी सबूत के यह नहीं कहा जा सकता कि वह आतंकवादी हैं या उन के ख़िलाफ कोई मुकदमा दर्ज है.”

मुशर्रफ़ पर हमले का आरोप

ग़ौरतलब है कि प्रतिबंधित संगठन हरक़तुल मुजाहिदीन अल-इस्लामी के प्रमुख क़ारी सैफ़ुल्लाह को पिछले महीने रिहा किया गया था लेकिन सरकारी स्तर पर इस की कोई पुष्टि नहीं हो सकी थी.

क़ारी सैफ़ुल्लाह को आख़री बार अगस्त 2008 में लाहौर से गिरफ़्तार किया गया था और उन्हें किसी गुप्त स्थान पर रखा गया था.

बनेज़ीर भुट्टो ने अपनी पुस्तक में क़ारी सैफ़ुल्लाह का ज़िक्र किया था और आरोप लगाया था कि 18 अक्तूबर 2007 में हुए उन के क़ाफ़ले पर बम हमले में क़ारी सैफ़ुल्लाह का हाथ है.

ख़बरें हैं कि क़ारी सैफ़ुल्लाह को 2004 में संयुक्त अरब इमारात से निकाल दिया गया था और पाकिस्तान के अधिकारियों ने उन्हें पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ पर हमलो की योजना बनाने के आरोप में गिरफ़्तार किया था.

संबंधित समाचार