"मेरे पिता का कत्ल मज़हब की तौहीन है"

शहबाज़ तासीर

पाकिस्तान के उदारवादी नेता सलमान तासीर के बेटे शहबाज़ तासीर ने कहा है कि उन के पिता की हत्या कर धर्म का अपमान किया गया है.

बीबीसी को दिए गए एक विशेष साक्षात्कार में उन्होंने कहा, “पिता की हत्या के बाद हमें शायद इस जीवन में न्याय नहीं मिले लेकिन पाकिस्तान को ज़रूर न्याय मिलेगा.”

उन्होंने आगे कहा, “मेरे धर्म में हत्या करना बहुत बड़ा पाप है और जो व्यक्ति इंसान की हत्या करता है वास्तव में वह धर्म का अपमान करता है. जो लोग ऐसा करते हैं उन्हें कभी तो जवाब देना पड़ेगा और दूसरे जीवन में ऐसे लोगों को कोई माला नहीं पहनाए गा.”

माफ़ी बड़ी ताक़त

शहबाज़ तासीर ने कहा कि उन्हें उन के पिता ने सिखाया था कि माफ़ करना मुसलमान की सबसे बड़ी ताक़त है और वो हमेशा धैर्य रखेंगे.

उन्होंने बताया कि पहले उन्हें बहुत दुख हुआ क्योंकि उनसे दोस्त जैसे पिता को छीन लिया गया लेकिन अब वे गर्व से कह सकते हैं कि उन के पिता बहुत बड़े इंसान थे.

उनके अनुसार सलमान तासीर ग़रीबों के अधिकारों के लिए लड़ रहे थे और एक ग़रीब महिला आसिया बीबी के बारे में कहते थे कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया है.

शाहबाज़ ने बताया, “मेरे पिता जिस बात हो ठीक समझते थे उस से पीछे नहीं हटते थे और वह कहते थे कि मुझे ख़ुदा को जवाब देना है. मैं वह नहीं कर सकता जो मेरा ज़मीर नहीं कहता हो.”

सलमान की हत्या

ग़ौरतलब है कि चार दिसंबर को सलमान तासीर के सुरक्षागार्ड ने उन की हत्या कर दी थी. पुलिस के अनुसार इस्लामाबाद की एक मार्केट में मुमताज़ क़ादरी नामक सुरक्षाकर्मी ने उन पर उस समय गोलियाँ चलाईं जब वे अपनी गाड़ी से उतर रहे थे.

Image caption पिछले महीने सलमान तासीर ने उन के सुरक्षागार्ड ने हत्या कर दी थी.

करीब एक महीने पहले पाकिस्तान में ईसाई महिला आसिया बीबी को कथित तौर पर पैगंबर मोहम्मद का अपमान करने पर मौत की सज़ा सुनाई गई थी. उसी के बाद से ईश-निंदा क़ानून का मामला काफ़ी सुर्ख़ियों में रहा है.

सलमान तासीर ने जेल में आसिया बीबी से मुलाक़ात की थी और का़नून में बदलाव की हिमायत की थी. उनके कथित हत्यारे ने कहा है कि वे सलमान तासीर के इसी रवैये से नाराज़ था.

सलमान तासीर पाकिस्तान की अहम राजनीतिक हस्तियों में से एक थे. उनकी हत्या ऐसे समय हुई जब पाकिस्तान राजनीतिक अस्थिरता के दौर से गुज़र रहा है.

संबंधित समाचार