संघर्ष जारी, हज़ारों लोग विस्थापित

इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान में अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि मोहमंद में सेना और चरमपंथियों के बीच जारी संघर्ष के कारण करीब 25 हज़ार लोग इलाक़े से भाग चुके हैं.

सेना के मुताबिक अब तक कम से कम 100 संदिग्ध चरमपंथी मारे गए हैं और कई सैनिक भी हताहत हुए हैं.

लेकिन इस दावे की पुष्टि नहीं हो सकी है क्योंकि स्वतंत्र मीडिया की वहाँ तक पहुँच नहीं है.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी आदिल रज़ा ने बीबीसी को बताया कि सैन्य अभियान के नतीजे में मोहम्मद एजेंसी से बड़ी संख्या में लोग विस्थापित हुए हैं और करीब 25 हज़ार लोगों ने अपना घर छोड़ दिया है.

उन्होंने कहा कि पेशावर में विस्थापितों केलिए दो शिवर बनाए गए हैं और फिलहाल करीब 600 परिवारों को शिवरों में रखा गया जहाँ उन्हें खाना और पीने का साफ़ पानी दिया जा रहा है.

पेशावर में संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी असलम ख़ान ने बताया कि उन्होंने अभी तक करीब 25 हज़ार लोगों का पंजीकरण किया है.

पाकिस्तानी सेना ने मोहमंद में संदिग्ध चरमपंथियों के ख़िलाफ़ नया सैन्य अभियान शुरु किया हुआ है. ये इलाक़ा अफ़ग़ानिस्तान से सटा हुआ है.

संघर्ष के कारण विस्थापित हुए लोगों को अस्थाई शिविरों में रखा जा रहा है.

नागरिकों के मुताबिक पिछले एक हफ़्ते से सैन्य अभियान में सेना हेलीकॉप्टर गनशिप और अन्य हथियारों का इस्तेमाल कर रही है.

अफ़ग़ानिस्तान सीमा से लगा मोहमंद इलाक़ा लंबे समय से तालिबान और अल क़ायदा का गढ़ माना जाता रहा है.

संबंधित समाचार