'रेमंड के ख़िलाफ़ हत्या साबित'

Image caption रेमंड डेविस की गिरफ़्तारी का यह मामला पाकिस्तान और अमरीका के बीच तनाव का कारण बन गया है.

पाकिस्तानी पुलिस का कहना है कि दो नागरिकों की हत्या के अभियुक्त अमरीकी अधिकारी रेमंड डेविस ने आत्मरक्षा में गोलियाँ नहीं चलाई और उनके ख़िलाफ़ हत्या साबित हो गई है.

लाहौर पुलिस के प्रमुख असलम तरान ने एक पत्रकार वार्ता में कहा, "रेमंड डेविस ने अदालत में बयान दिया था कि उन्होंने अपनी जान बचाने के लिए दोनों व्यक्तियों की हत्या की थी लेकिन गवाहों के बयानों से यह सिद्ध नहीं हुआ है."

उन्होंने कहा कि जाँच से पता चला है कि अमरrकी अधिकारी ने सात गोलियाँ चलाई थी और एक व्यक्ति पर उस समय फ़ायरिंग की थी जब वह भाग रहा था.

उससे पहले अदालत ने अमरीकी अधिकारी रेमंड डेविस की न्यायिक हिरासत को 14 दिन के लिए और बढ़ा दिया.

लाहौर उच्च न्यायालय ने पाकिस्तान सरकार से यह स्पष्ट करने को कहा है कि रेमंड को कूटनीतिक सुरक्षा प्राप्त है या नहीं.

अमरीकी वाणिज्य दूतावास में काम करने वाले डेविस पर मुक़दमा चल रहा है, लेकिन अमरीका कह चुका है कि रेमंड को राजनयिक सुरक्षा प्राप्त है और उनकी हिरासत ग़ैर क़ानूनी है.

डेविस को फ़ौरन रिहा किए जाने की अमरीकी मांगों के बीच रेमंड ने कहा है कि उन्होंने इन दो लोगों को आत्मरक्षा के लिए गोली मारी.

'अधूरी है जांच'

बीबीसी संवाददाता इलियास ख़ान के मुताबिक़ मीडिया से बचाव और सुरक्षा कारणों से डेविस को शुक्रवार सुबह जल्दी ही अदालत में पेश किया गया.

समाचार एजेंसी एएफपी न्यूज़ ने पंजाब सरकार के वकील अब्दुल समद के हवाले से बताया, ''उन्हें 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है और अगली सुनवाई 25 फरवरी को है.''

उन्होंने कहा, ''इस मामले में की गई जांच अभी अधूरी है. ज़्यादातर समय राजनयिक सुरक्षा के मुद्दे पर बहस में निकल गया. जज ने कहा कि यह मामला उच्च न्यायालय के अधीन है और उसके दायरे से बाहर.''

ख़बरों के अनुसार डेविस को अब कड़ी सुरक्षा के बीच लाहौर की कोट लखपत जेल में भेजा जाएगा. उन पर हत्या और ग़ैर क़ानूनी रूप से हथियार रखने के आरोप तय किए गए हैं.

इससे पहले रेमंड डेविस की गोलियों का निशाना बने पाकिस्तानी नागरिक फ़हीम की विधवा ने सोमवार को आत्महत्या कर ली थी.

रिपोर्टों के अनुसार उन्होंने मौत से पहले अपने बयान में कहा कि वह इस बात को लेकर चिंतित थीं कि कहीं उनके पति पर गोली चलाने वाला रेमंड डेविस रिहा न हो जाए.

रेमंड डेविस की गिरफ़्तारी का यह मामला पाकिस्तान और अमरीका के बीच तनाव का कारण बन गया है.

संबंधित समाचार