'सीआईए के लिए काम करते थे रेमंड डेविस'

इमेज कॉपीरइट
Image caption रेमंड डेविस की गिरफ़्तारी को लेकर अमरीका और पाकिस्तान में तनाव पैदा हो गया है

रिपोर्टों के मुताबिक एक अमरीकी अधिकारी का कहना है कि लाहौर में दो पाकिस्तानी नागरिकों को गोली मारने वाले अमरीकी रेमंड डेविस गुप्त रूप से सीआईए के लिए काम करते थे. इस अधिकारी के नाम का उल्लेख नहीं किया गया है.

अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि रेमंड डेविस लाहौर स्थित अमरीकी वाणिज्य दूतावास में सीआईए के लिए काम करते थे.

इधर रॉयटर समाचार एजेंसी ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से कहा है कि रेमंड डेविस 'प्रोटेक्टिव आफ़िसर' के रूप में काम करते थे.

रेमंड डेविस जेल में बंद हैं और उनके कूटनयिक दर्जे को लेकर विवाद चल रहा है.

ग़ौरतलब है कि लाहौर में 27 जनवरी को अमरीकी वाणिज्य दूतावास में काम करने वाले रेमंड डेविस ने शहर की भीड़ वाली सड़क पर दो पाकिस्तानी लोगों को गोली मार दी थी. दोनों व्यक्ति मोटरसाइकिल पर सवार थे.

रेमंड डेविस का कहना है कि पाकिस्तानी नागरिक उन्हें लूटना चाहते थे.

अमरीका रेमंड डेविस को रिहा करने की मांग कर रहा है और उसने रिहाई के लिए पाकिस्तान पर दबाव बढ़ा दिया है.

हाल में अमरीकी कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद सीनेटर जॉन कैरी पाकिस्तान दौरे पर थे और उन्होंने पाकिस्तानी नेतृत्व से मुलाक़ात कर रेमंड डेविस की रिहाई की मांग की.

इससे पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी कहा था कि रेमंड डेविस को रिहा किया जाना चाहिए.

इस मामले को लेकर अमरीका और पाकिस्तान के संबंधों में तनाव पैदा हो गया है.

हालांकि अभी तक अमरीका कहता आया है कि वो ये सुनिश्चित करने की कोशिश करेगा कि इस घटना का दोनों देशों के संबंधों पर कोई असर न पड़े.

संबंधित समाचार