पाकिस्तान में पूर्व मंत्री गिरफ़्तार

हज इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तान में बड़ी संख्या में लोग हज करने जाते हैं.

पाकिस्तान में हज व्यवस्था में हुए कथित भ्रष्टाचार के मामलों की जाँच कर रही संघीय जाँच एजेंसी ने सत्ताधारी दल पीपुल्स पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हामिद सईद काज़मी को गिरफ़्तार कर लिया है.

धार्मिक मामलों के पूर्व मंत्री हामिद सईद काज़मी के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज है और उन पर आरोप है कि उन्होंने राष्ट्रीय कोष को भारी नुक़सान पहुँचाया है.

कुछ महीने पहले हज व्यवस्था में भ्रष्टाचार का मामला सामने आने के बाद प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने हामिद काज़मी को उनके पद से हटा दिया था.

रावलपिंडी की स्थानीय अदालत ने उन की ज़मानत याचिका ख़ारिज कर दी जिस के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया.

इस से संघीय जाँचे एजेंसी ने धार्मिक मामलों के मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी राव शकील को गिरफ़्तार किया था.

पूर्व धार्मिक मामलों की मंत्री हामिद सईद काज़मी ने अदालत में गिरफ़्तारी से पहले ज़मानत की याचिका दायर की थी.

संघीय जाँच एजेंसी ने अदालत में एक दस्तावेज़ पेश किया जिस में बताया गया कि हामिद सईद काज़मी ने बतौर केंद्रीय मंत्री साऊदी अरब में हाजियों के लिए रहने की व्यवस्था करने में भ्रष्टाचार की थी.

ग़ौरतलब है कि कुछ महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने हज व्यवस्था में कथित भ्रष्टाचार के मामले का अपने आप संज्ञान लिया था जिस के बाद सरकार ने करीब 26 हज़ार हाजियों को पैसे लौटा दिए थे.

इस मामले को लेकर पीपुल्स पार्टी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार में काफ़ी मतभेद हो गए थे और जमीयत उलेमाए इस्लाम सरकार ने अलग हो गई थी.

संबंधित समाचार