पाकिस्तान:ख़ैबर एजेंसी में 14 सैनिकों की मौत

तालिबान
Image caption ख़ैबर एजेंसी में सुरक्षाकर्मियों पर हमलों में हाल के दिनों में इज़ाफ़ा हुआ है.

पाकिस्तान में अधिकारियों का कहना है कि अफ़गानिस्तान सीमा के पास क़बायली इलाक़े ख़ैबर एजेंसी में सुरक्षाकर्मियों पर संदिग्ध चरमपंथियों के हमले के बाद जवाबी कार्रवाई के दौरान सुरक्षाकर्मियों का अपना ही गोला फटने से 14 सैनिक मारे गए हैं.

मारे जाने वालों में फ़ौज के एक कर्नल और एक कप्तान शामिल हैं.

ख़ैबर एजेंसी में एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बीबीसी संवाददाता दिलावर ख़ान को बताया कि ये घटना सोमवार शाम को बाड़ा बाज़ार से लगभग आठ किलोमीटर दूर उत्तर की ओर मीरा अकाख़ेल में हुई.

अधिकारी ने बताया कि दर्जनों हथियारबंद लोगों ने सेना की एक टुकड़ी पर भारी हथियारों से हमला कर दिया था. लेकिन उस हमले में किसी भी सुरक्षाकर्मी को कोई नुक़सान नहीं हुआ था.

अधिकारी के अनुसार हमले के बाद जब सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई शुरू की तो उस दौरान एक तोप का गोला अचानक फट गया. इस घटना में 14 सैनिक मारे गए जिनमें एक कर्नल शिराज़ और एक कप्तान अब्दुस्सलाम शामिल हैं.

सेना के अधिकारी ने बताया कि इस घटना मे पास में खड़ी तीन गाड़ियां भी पूरी तरह तबाह हो गईं.

मारे जाने वालों की लाशें हेलीकॉप्टर के ज़रिए पेशावर भेज दी गई हैं.

ख़ैबर एजेंसी में पिछले कुछ दिनों से सुरक्षाकर्मी चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रहे हैं और इस दौरान सेना की टुकड़ियों पर अल क़ायदा और तालिबान लड़ाके अकसर हमला करते रहे हैं.

पिछले दो वर्षों में पाकिस्तान सरकार ने कई बार इन इलाक़ों में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान छेड़ा है लेकिन चरमपंथियों को पूरी तरह ख़त्म करने में उन्हें अभी तक सफलता नहीं मिल पाई है.

संबंधित समाचार