पाक गृहमंत्री के 'खिलाड़ियों पर निगरानी' के बयान पर बवाल

रहमान मलिक

पाकिस्तान के गृहमंत्री रहमान मलिक ने भारत-पाकिस्तान मैच से डेढ़ दिन पहले कहा कि विश्व कप क्रिकेट में खेल रहे पाकिस्तानी खिलाड़ियों की ख़ुफिया तौर पर निगरानी की जा रही है.

उन्होंने पत्रकारो से बातचीत करते हुए खिलाड़ियों को हिदायत भी दी कि वे 'किसी तरह की सट्टेबाज़ी से बाज़ आएँ.'

लेकिन इस पर पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ियों की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई है.

भारतीय मीडिया से बात करते हुए पूर्व पाकिस्तान कप्तान इमरान ख़ान ने कहा कि 'इससे बेमानी बात' कही ही नहीं जा सकती थी.

उनका कहना था कि भारत-पाक मैच से पहले इस समय पाकिस्तानी टीम के खिला़ड़ी शायद अपने जीवन में सबसे ज़्यादा दबाव अनुभव कर रहे हैं.

इमरान ने कहा कि ऐसे समय में किसी मंत्री के ऐसी बात कहने से दबाव बहुत ज़्यादा बढ़ गया है और खिलाड़ियों के दिमाग में ये ज़रूर आएगा कि यदि वे किसी भी कारण से हार गए तो उन पर आरोप लगेगा कि कहीं उन्होंने कोई समझौता तो नहीं किया है.

'किस से मिलते हैं, फ़ोन की क्या पोज़ीशन है'

रहमान मलिक ने कराची में पत्रकारों ने बातचीत करते हुए कहा, "यह जानकारी किसी को बतानी तो नहीं चाहिए लेकिन हम उनकी कड़ी ख़ुफिया निगरानी कर रहे हैं. वे किन लोग उन से मिलते हैं, और उन के टेलीफ़ोन की भी क्या पोज़ीशन है."

उन्होंने आगे बताया, "यह बहुत ही ज़रुरी है क्योंकि जो लंदन में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ सट्टेबाज़ी को लेकर हुआ उस स्थिति में हम और जोखिम नहीं उठा सकते."

रहमान मलिक ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि इस समय कोई भी खिलाड़ी किसी भी सट्टेबाज़ी में लिप्त नहीं है और उम्मीद जताई कि खिलाड़ी मैच जीतेंगे और जनता को निराश नहीं करेंगे.

उन्होंने खिलाड़ियों को सलाह दी कि वह पूरी प्रेक्टिस करें और अपनी नींद पूरी करें और इस मैच को पाकिस्तानी जनता को समर्पित करे दें.

गृहमंत्री ने भारत और पाकिस्तान के बीच हो रहे सेमी फ़ाइनल की सुरक्षा पर भारतीय गृह मंत्री पी चिदंबरम के बयान का स्वागत किया और कहा कि भारतीय सरकार ने पाकिस्तानी टीम को भी बहतर सुरक्षा प्रदान की है.

संबंधित समाचार