पाकिस्तानी अख़बारों में छाई निराशा

पाक अख़बारें

पाकिस्तान के सभी समाचार पत्रों ने भारत के शहर मोहाली में सेमीफ़ाइनल में हुई पाकिस्तानी टीम की हार को मुख्य ख़बर बनाया है और निराशा साफ़ दिख रही है.

अंग्रेज़ी अख़बार ‘दी न्यूज़’ ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों की हार को ‘मोहाली में क़त्ले-आम’ क़रार दिया है और लिखा है कि भारत ने विश्व कप के फ़ाइनल में अपना नाम दर्ज कर लिया और ख़राब फील्डिंग और बल्लेबाज़ी ने पाकिस्तान को डुबो दिया.

अख़बार आगे लिखता है कि पाकिस्तानी बल्लेबाज़ तेज़ आ रही भारतीय गेंदों का मुक़ाबला नहीं कर सके और दो सौ 31 पर वापस लौट गए.

अख़बार ने अपने संपादकीय में लिखा है कि पाकिस्तानी खिलाड़ी इस खेल के अंत तक नहीं जा सके लेकिन उन्होंने निडर हो कर मैदान में लड़ाई की और इस का पाकिस्तान मे क्रिकेट पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा.

'सकारात्मक मुलाक़ात'

दी न्यूज़ ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी को मैच देखने और भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से बातचीत करने को एक अच्छा क़दम क़रार दिया है.

अंग्रेज़ी के एक ओर अख़बार ‘दी नेशन’ ने भी इस ख़बर को प्रमुखता से छापा है और लिखा है कि पाकिस्तान मोहाली जंग हार गया. अख़बार ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों की बल्लेबाज़ी और फील्डिंग की कड़ी आलोचना की है और लिखा है कि उस के कारण ही करोड़ों पाकिस्तानी निराश हुए हैं.

अख़बार ने पहले पन्ने पर दो तस्वीरें भी प्रकाशित की हैं जिन में से एक में प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी को मैच के दौरान सोनिया गांधी से बात करते हुए दिखाया गया है और दूसरी क्रिकेट प्रेमियों की है जिन के चहरों पर निराशा साफ दिख रही है.

उर्दू अख़बार नवाए-वक़्त ने लिखा है कि पाकिस्तानी बल्लेबाज़ उमर गुल महंगे साबित हुए और पाकिस्तानी खिलाड़ी दबाव का सामना नहीं कर सके जिस की वजह से 231 रनों पर आउट हो गए.

'शानदार रहे वहाब'

उर्दू के एक अन्य अख़बार ‘आजकल’ ने भी इस ख़बर को पहले पन्ने पर जगह दी है और लिखा है कि मैच के बाद पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफ़रीदी ने पाकिस्तानी क़ौम से माफ़ी मांगी और कहा कि वहाब रियाज़ ने अच्छी बॉलिंग की लेकिन बल्लेबाज़ जम कर नहीं खेल सके.

रोज़नामा एक्सप्रेस ने पहले पन्ने पर भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की तस्वीर छापी है जिस में यूसुफ़ रज़ा गिलानी और मनमोहन सिंह को मोहाली के क्रिकेट स्टेडियम में बैठे लोगों की ओर हाथ हिलाते हुए दिखाया गया है.

अख़बार ने पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज़ शरीफ़ का बयान प्रकाशित किया है जिस में उन्होंने कहा कि भारत से हार का बदला मैदान पर ही लेंगे और जब पाकिस्तानी टीम स्वदेश लौटेगी तो वे उन का स्वागत करेंगे.

समाचार पत्रों ने क्रिकेट मैच के दौरान भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की मुलाक़ात की भी ख़बरे प्रकाशित की हैं जिस में दोनों प्रधानमंत्रियों ने अतीत को भुलाने का संकल्प किया.

संबंधित समाचार