बलूचिस्तान में शव मिलने जारी

बलोच इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption प्रांत के करीब आठ हज़ार लोग ग़ायब हैं.

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में पिछले कई महीनों से लगातार शव मिल रहे है. सोमवार को पाँच शव और मिले हैं.

स्थानीय पुलिस के अनुसार तीन शव ख़ुज़दार शहर से 10 किलोमीटर की दूरी पर मिले जबकि दो शव तुरबत शहर से मिले.

ख़ुज़दार के स्थानीय पत्रकार यूनस मेंगल ने बीबीसी को बताया कि शवों की पहचान हो गई है जिस में से एक शव ग़ुलाम मुर्ताज़ा है जो राजनीतिक कार्यकर्ता थे जबकि मोहम्मद अयूब और अब्दुल हफ़ीज़ मज़दूरी करते थे.

उन्होंने बताया कि यह लोग करीब एक महीने पहले अग़वा किए गए थे.

क्वैटा से बीबीसी संवाददाता अयूब तरीन के मुताबिक़ तुरबात पुलिस ने बताया कि शहर से दो शव मिले जो ज़रीफ़ फ़राज़ और शमीम अमीन के थे.

स्थानीय पत्रकार जहाँगीर असलम के मुताबिक ज़रीफ़ फ़राज़ बलोची भाषा के कवि थे जबकि शमीम अमीन एक राजनीतिक कार्यकर्ता थे.

'शव मिलने की निंदा'

बलोच राष्ट्रवादी नेताओं ने शव मिलने की कड़े शब्दों में निंदा की है और प्रांत में लगातार मिल रहे शवों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है.

बलोच राजनैतिक दलों का आरोप है कि जिन लोगों के शव मिल रहे हैं वह बलोच नागरिकों के हैं जिन्हें 2006 के बाद से पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसियाँ अग़वा करती रही हैं.

ग़ौरतलब है कि बलूचिस्तान के करीब आठ हज़ार लोग पिछले कई सालों से ग़ायब हैं और अब शव मिलना प्रांत में चिंता का विषय बन गया है.

संबंधित समाचार