ओबामा ने ज़रदारी को ओसामा के मारे जाने की ख़बर फ़ोन पर दी

Image caption अमरीकी राष्ट्रपति ओबामा ने पाकिस्तानी राष्ट्रपति ज़रदारी को फोन पर जानकारी दी.

पाकिस्तान की ओर से जारी आधिकारिक बयान के अनुसार राष्ट्रपति बराक ओबामा ने फ़ोन पर राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी को बताया कि एक अभियान में अमरीकी सैनिक ओसामा बिन लादेन को मारने में सफल रहे हैं.

इस्लामाबाद से जारी इस विज्ञप्ति में लिखा है, "ये अभियान अमरीका की उस घोषित नीति के तहत किया गया कि ओसामा बिन लादेन दुनिया में जहां भी पाया जाएगा, उसे अमरीकी सैन्य बल मार देंगे."

विज्ञप्ति में बताया गया है कि अमरीकी खुफ़िया तंत्र के द्वारा आयोजित अभियान में बिन लादेन को ऐबटाबाद में सोमवार तड़के मार दिया गया.

पाकिस्तान ने दोहराया है कि उसकी नीति है कि वो 'किसी देश पर आतंकवादी हमले के लिए अपनी ज़मीन का इस्तेमाल नहीं होने देंगा.'

विज्ञप्ति में कहा गया है कि आतंकवाद के खिलाफ दुनिया की मुहिम में पाकिस्तान की अहम भूमिका रही है और पाकिस्तान इससे जुड़ी सारी खुफ़िया जानकारी अमरीका समेत अन्य देशों के साथ बांटता रहा है.

पाकिस्तान ने कहा है कि अल क़ायदा की ओर से किए आंतंकवादी हमलों में पिछले सालों में हज़ारों बेगुनाह पाकिस्तानी नागरिकों की मौत हुई है. अल कायदा के सरगना के मारे जाने से दुनियाभर के आतंकवादी संगठनों को झटका लगा है.

इससे पहले अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने घोषणा की, कि पाकिस्तान में अमरीकी सैनिकों की कार्रवाई में अल क़ायदा के नेता ओसामा बिन लादेन मारे गए हैं.

अमरीकी समय के मुताबिक़ रविवार देर रात राष्ट्रपति बराक ओबामा ने यह घोषणा की.

अमरीका का कहना है कि ख़ुफ़िया जानकारियों के आधार पर हुई इस कार्रवाई का पहला सुराग पिछले साल अगस्त में मिला था.

अमरीका 11 सितंबर को हुए हमलों के लिए लादेन को ही ज़िम्मेदार मानता है. अमरीका की मोस्ट वांटेड लिस्ट में लादेन का नाम सबसे ऊपर था.

संबंधित समाचार