ओसामा की मौत बड़ी सफलता

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में अमरीका के विशेष दूत मार्क ग्रौसमैन (बीच में)

पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के लिए अमरीका के विशेष दूत मार्क ग्रॉस्मेन ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन का मारा जाना पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और अमरीका के लिए बड़ी सफलता है.

उन्होंने अमरिका, अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के बीच हुई त्रिपक्षीय सामरिक वार्ता के बाद एक संयुक्त पत्रकार सम्मेलन में कहा कि ओसामा बिन लादेन की हत्या तीनों देशों के लिए महत्वपूर्ण है और वे उम्मीद करते हैं कि इससे चरमपंथ ख़त्म होगा.

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान के हज़ारों नागरिक आतंकवाद का शिकार हुए और सैकड़ों सैनिक भी मारे गए साथ ही अमरीकी नागरिक भी आतंकवाद का शिकार हुए हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “आतंकवाद के ख़िलाफ़ पाकिस्तान और अमरिका का सहयोग बहुत ही ज़रुरी है और इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि हमें अपने नागरिकों को सुरक्षित रखना है.”

अल क़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौत पर बात करते हुए मार्क ग्रॉस्मेन ने कहा कि उन की हत्या पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और अमरिका के लिए बहुत ही बड़ी कामयाबी है.

जब उन से पूछा गया कि ओसामा बिन लादेन की हत्या को लेकर कई विवाद सामने आ रहे हैं तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा, “मैं सभी विवादों का जवाब देने के लिए तैयार हूँ. ओसामा बिन लादेन मारे गए हैं, उन्हें अमरीका के विशेष सैनिकों ने मारा.”

उन्होंने आगे बताया कि राष्ट्रपति ओबामा ने उन की हत्या की पुष्टि की और पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी एक बयान जारी किया.

मार्क ग्रॉस्मेन ने बताया, “इस से ज़्यादा मैं कुछ नहीं कह सकता, वे मारे जा चुके हैं और हम आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ते रहेंगे जैसा कि पाकिस्तान के विदेश सचिव ने कहा है.”

पाकिस्तान के विदेश सचिव सलमान बशीर ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद को जड़ से उखाड़ फ़ैंकने का संकल्प लिया है और इस में बड़ी सफलता भी मिली है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मैं समझता हूँ कि इस समय अभियान की बारीकियों में उलझना ठीक नहीं है, क्या हुआ, क्यों हुआ, मैं समझता हूँ कि इस को छोड़ दिया जाए और आगे की ओर देखना चाहिए. आज हमने नए अध्याय की शुरुआत करने के लिए बैठक की है और आतंकवाद के ख़िलाफ़ हमारा सहयोग जारी रहेगा.”

संबंधित समाचार