पाक वायुसेना ने जाँच शुरु कर दी

वायुसेना
Image caption पाकिस्तानी वायुसेना ने ऐबटाबाद घटना की जाँच शुरु कर दी है.

पाकिस्तान की वायुसेना ने दो मई को अमरीकी हेलीकॉप्टरों की ओर से सीमा के उल्लंघन की जाँच शुरु कर दी है.

ऐबटाबाद में अल क़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौजूदगी और उन्हें मारने के लिए हुए सैन्य अभियान के तथ्य जानने केलिए यह जाँच शुरु कर दी गई है.

अमरीकी सैनिकों ने ऐबटाबाद में कार्रवाई कर ओसामा बिन लादेन को मार दिया था और कहा जा रहा है कि अमरीकी हेलीकॉप्टरों ने अफ़ग़ानिस्तान से उड़ान भरी थी.

अमरीकी अभियान के बाद पाकिस्तान में यह सवाल उठाया जा रहा है कि पाकिस्तानी अधिकारी अपने इलाक़ों में अमरीकी हेलीकॉप्टरों की मौजूदगी से कैसे बेख़बर रहे.

वायुसेना ने एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि इस मामले की जाँच के लिए एक समिति बना दी गई थी जिस ने बयान भी रिकॉर्ड करना शुरु कर दिए हैं.

उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में इस प्रकार की ओर भी जाँच शुरु हो जाएंगी जो तथ्यों को सामने लाने में उपयोगी होंगी.

उन्होंने कहा कि वायुसेना का ग्रुप कैप्टेन इस मामले की जाँच कर रहा है.

'राडार काम कर रहे थे'

अधिकारी के अनुसार प्ररंभिक जाँच से पता चलता है कि पाकिस्तान की पश्चमि सीमा पर दो मई की रात को राडार काम कर रहे थे और उन राडार ने रात करीब 11 बजे अफ़ग़ानिस्तान के शहर जलालाबाद के करीब गतिविधियों का पता चलाया था.

यह गतिविधियाँ जलालाबाद के हवाई अड्डे से उड़ने वाले करीब छह विमानों की थी जिन की पहचान अमरीकी एफ़एट लड़ाका विमानों के तौर पर हुई.

उन्होंने कहा कि यह विमान काफ़ी देर तक पाकिस्तानी सीमा के पास उड़ते रहे लेकिन पाकिस्तानी अधिकारियों ने राडार के ज़रिए उस पर नज़र रखी हुई थी और किसी विमान ने पाकिस्तानी सीमा का उल्लंघन नहीं किया.

वायुसेना के अधिकारी ने बाताया कि जाँच समिति यह जानने की कोशिश कर रही है कि पाकिस्तान राडार उन विमानों के कारण सक्रिय होने के बावजूद हेलीकॉप्टरों के आने का पता क्यों नहीं चला.

संबंधित समाचार