नेटो तेल टैंकर पर हमला, 16 मरे

तेल टैंकर ( फ़ाइल ) इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption नेटो के तेल टैंकरो पर कई हमले हो चुके हैं. ये टैंकर अफ़गानिस्तान में मौजूद नेटो सेनाओं के लिए ईंधन आपूर्ति करते हैं.

अधिकारियों का कहना है कि उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान में नेटो के एक तेल टैंकर पर फेंके गए बम के बाद हुए विस्फोट में कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई है.

पुलिस का कहना है कि ख़ैबर कबायली इलाक़े के क़स्बे लंडी कोतल में नेटो के तेल टैंक पर एक छोटा बम फेंका गया है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि टैंकर में बम के प्रभाव से रिसाव शुरू हुआ और लोग तेल लेने के लिए टैंकर की ओर भागे लेकिन तभी टैंकर के परखच्चे उड़ गए.

एक स्थानीय अधिकारी शफ़ीरुल्ला वज़ीर ने कहा, "सुबह एक छोटे बम के विस्फोट के बाद टैंकर में आग लग गई थी. आस-पास के गांव के लोग उस टैंकर से निकल रहे तेल के लेने के लिए इकट्ठा हुए. तब तक टैंकर की आग बुझा दी गई थी. लेकिन तभी एक बार फिर से आग धधक उठी. और फिर धमाका हुआ जिसमें पांच लड़कों समेत 15 स्थानीय लोग मारे गए "

ऐसे तेल के टैंकर अफ़गानिस्तान में मौजूद नेटो सेनाओं के लिए ईंधन की आपूर्ति करते हैं. ये तेल पाकिस्तान से अफ़गानिस्तान पहुंचाया जाता है.

इसी क्षेत्र में एक अन्य घटना में नेटो के कम से कम 11 तेल टैंकर एक धमाके में तबाह हो गए हैं.

इन हमलों के लिए अब तक किसी ने कोई ज़िम्मेदारी नहीं ली है लेकिन तालिबान ऐसे हमलों को अंजाम देता रहा है.

शुक्रवार को पेशावर स्थित अमरीकी उच्चायुक्त पर भी हमला किया गया था. इस हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दस लोग घायल हो गए थे. अमरीकी हमले में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद यह पाकिस्तानी तालिबान की ओर से किया गया पहला हमला था.

संबंधित समाचार