'ओसामा की मौत का बदला लेंगे'

तालिबान
Image caption तालिबान ने ओर धमाकों की धमकी दी है.

पाकिस्तान के प्रतिबंधित गुट तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन की मौत का बदला लेने के लिए उसने व्यापक स्तर पर कार्रवाई शुरु कर दी है.

क़बायली इलाक़े मोहमंद एजेंसी में तालिबान के प्रवक्ता सज्जाद मोहमंद ने बीबीसी संवाददाता दिलावर ख़ान वज़ीर से बातचीत करते हुए कहा कि उन्होंने ओसामा बिन लादेन की मौत का बदला लेने की घोषणा की है और वे महत्वपूर्ण लक्ष्यों को निशाना बना रहे हैं.

सज्जाद मोहमंद ने बताया कि पहले तालिबान जो हमले करते थे उसमें बड़े हमले भी शामिल होते थे. हालांकि ज़्यादातर मौकों पर छोटे हमले करके स्थानीय स्तर पर बदला लिया जाता था.

प्रवक्ता के अनुसार पहले जब सुरक्षाबल क़बायली इलाक़ों में तालिबान के ख़िलाफ़ अभियान करते थे तो उसका बदला लेने के लिए छोटे हमले किए जाते थे.

हालांकि उन्होंने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि तालिबान के हमलावर न केवल क़बायली इलाक़ों तक सीमित हैं बल्कि पाकिस्तान और पूरी दुनिया में मौजूद हैं.

'परमाणु हथियारों पर मुसलमानों का अधिकार'

सज्जाद मोहमंद ने कहा कि अब तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान इतना मज़बूत हो चुका है कि अगर अमरीका अफ़ग़ानिस्तान से चला भी जाए तो वह फिर भी पाकिस्तान में अपनी कार्रवाई जारी रखेंगे और इस्लामी क़ानून लागू होने तक लड़ते रहेंगे.

पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि तालिबान परमाणु संपत्ति के ख़िलाफ़ नहीं हैं और इन हथियारों पर इस्लाम और मुसलमानों का अधिकार है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार इस समय अमरीका के हाथों में हैं और उनका गुट इन्हें हासिल कर मुसलमानों की सुरक्षा करेगा.

संबंधित समाचार