चरमपंथियों के ख़िलाफ़ व्यापक अभियान

पाक सेना
Image caption सेना ने कुर्रम एजेंसी में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई शुरु कर दी है.

पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े कुर्रम एजेंसी में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ व्यापक स्तर पर सैन्य अभियान शुरु कर दिया गया है लकेनि अभी तक सुरक्षाबलों को किसी प्रतिरोध का सामना नहीं करना पड़ा है.

अधिकारियों के मुताबिक़ सैन्य अभियान के बाद हज़ारों स्थानीय लोगों का युद्धग्रस्त इलाक़ों से निकलना शुरु हआ हैं और कुर्रम एजेंसी में सदा के स्थान पर विस्थापितों के लिए अस्थाई शिविर बनाया गया है.

एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बीबीसी संवाददाता दिलावर ख़ान वज़ीर को बताया कि मध्य कुर्रम के इलाक़े ज़ीमुश्त, अली शेरज़ई और मासोज़ई में मौजूद चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान शुरु कर दिया गया है.

उन्होंने बताया कि चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अभियान में सेना और अर्धसैनिक बलों के सैंकड़ों जवान हिस्सा ले रहे हैं लेकिन अभी तक चरमपंथियों की ओर से किसी भी प्रकार के प्रतिरोध की ख़बरें नहीं हैं.

उनके मुताबिक़ सुरक्षाबल बड़ी कामयाबी के साथ आगे बढ़ रहे हैं और धीरे धीरे इलाक़ों को चरमपंथियों से ख़ाली किया जा रहा है.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि अभियान से हज़ारों लोग प्रभावित हुए हैं जिनके लिए सरकार ने एक अस्थाई शिविर बनाया है.

उन्होंने बताया कि ज़ीमुश्त के इलाके में कई गावों से लोग पहले ही विस्थापित होना शुरु हुए थे.

'हज़ारों लोग विस्थापित'

उनके मुताबिक़ दूसरे इलाक़ों से लोग अब विस्थापित होना शुरु हुए हैं और जैसे अभियान आगे की ओर बढ़ेगा कुछ ओर लोग भी विस्थापित हो सकते हैं.

दूसरी ओर कुर्रम एजेंसी में सैन्य अभियान शुरु होते ही इलाक़े में दूरसंचार तंत्र को बंद कर दिया गया जिसकी वजह से इलाक़े में किसी भी से संपर्क नहीं हो रहा है.

ख़बरें हैं कि रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात सुरक्षाबलों ने अली शेरज़ई और उसके आस पास के इलाक़ों में चरमपंथियों के कई ठिकानों पर गोलीबारी की.

इसके इलावा सोमवार की सुबह सुरक्षाबलों ने अगे बढ़ते हुए कुछ पहाड़ों पर मोर्चे बना दिए हैं.

संबंधित समाचार