'लादेन की मौत के बाद बढ़ी हिंसा'

ओसामा इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दो मई को ऐबटाबाद में अमरीकी सैनिकों ने ओसामा को मार दिया था.

अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस समिति का कहना है कि अल क़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद से पाकिस्तान में हिंसा और विदेशियों के ख़िलाफ़ अविश्वास बढ़ रहा है.

अमरीकी सैनिकों ने गत दो मई को पाकिस्तान के शहर ऐबटाबाद में कार्रवाई कर अल क़ायदा के प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मार दिया था.

अमरीका ने यह कार्रवाई पाकिस्तान को बिना बताए की थी, जिस पर पाकिस्तानी सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई थी.

रेड क्रॉस के पाकिस्तान प्रमुख पास्कल क्योते ने जिनेवा स्थित रेड क्रॉस मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, “ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद पाकिस्तान में स्थिति गंभीर हो गई है और हिंसा में बढ़ोतरी हो रही है.”

उन्होंने आगे बताया, “पाकिस्तान के बड़े शहरों कराची और पेशावर में हिंसा तेज़ी से बढ़ रही और ऐसा लग रहा है कि भविष्य में स्थिति ओर गंभीर हो सकती है.”

'विदेशियों केलिए मुश्किलें'

उनके मुताबिक़ ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद पाकिस्तान में विदेशियों के ख़िलाफ़ अविश्वास भी बढ़ रहा है और वे पाकिस्तान में काम करते हुए काफ़ी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं.

पास्कल क्योते ने बताया कि पाकिस्तान में साहयता एजेंसियों के लिए काम करना मुश्किल हो रहा है और कई अतंरराष्ट्रीय साहयता एजेंसियाँ पाकिस्तानी नौकरशाही की ओर से दिक्कतों का सामना कर रही हैं.

उन्होंने कहा, “जो विदेशी पाकिस्तान में काम कर रहा है, उन्हें संदेह की निगाह से देखा जा रहा है और रहने और काम करने की अनुमति लेना बहुत मुश्किल हो गया है.”

पास्कल क्योते पिछले तीन सालों से पाकिस्तान में काम कर रहे हैं और उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में 2010 में आए भयंकर बाढ़ से हुए प्रभावित हज़ारों लोग अब भी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं और उन्हें अतंरराष्ट्रीय साहयता एजेंसियों की ज़रूरत है.

संबंधित समाचार