पाकिस्तान: जनाजे़ पर हमला, 20 मरे

इमेज कॉपीरइट bbc
Image caption पाकिस्तान के कबायली इलाक़ों में तालिबान अक्सर हमले करते रहे हैं.

अफ़गानिस्तान से लगी पाकिस्तान सीमा के पास एक जनाजे़ पर हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 20 लोग मारे गए हैं और कई लोग घायल हुए हैं.

स्थानीय पुलिस प्रमुख मोहम्मद सलीम मारवात ने कहा है कि दीर इलाक़े में हुए इस धमाके में कम से 20 लोग मारे गए हैं और 45 लोग घायल हुए हैं.

उन्होंने बीबीसी को बताया कि यह जनाज़ा तालिबान विरोधी लड़ाके दस्ते से जुड़े व्यक्ति का था जिसमें कई गांववाले भी शामिल थे.

मारवात का कहना था, ‘‘ यह जनाज़ा एक आम ग्रामीण का था. हां कुछ लोग इसमें ऐसे भी शामिल थे जो एक स्थानीय कबायली नेता से जुड़े थे जो तालिबान विरोधी लड़ाई का हिस्सा हैं. संभवत यही लोग निशाने पर थे.’’

रिपोर्टों में कहा जा रहा है कि जनाज़े में करीब 100 लोग थे.

समाचार एजेंसी ने एक स्थानीय निवासी के हवाले से कहा, ‘‘ मैं चारो तरफ खून ही खून देख रहा था. लोग अपने परिजनों के शरीर के टुकड़े समेट रहे थे.’’

इलाक़े में अकसर बम धमाके होते रहते हैं लेकिन अभी तक इस धमाके की ज़िम्मेदारी किसी ने नहीं ली है.

कबायली नेताओं के ख़िलाफ़ तालिबान अकसर हमले करते रहते हैं.

इससे पहले मंगलवार को ही अज्ञात हमलावरों ने पेशावर में एक स्कूली बस पर हमला किया जिसमें पाँच बच्चों समेत छह लोगों की मौत हो गई थी.

जनाज़े पर हमला समरबाग ज़िले में हुआ है जहां से कई लड़ाके तालिबान के ख़िलाफ़ लड़ाई में हिस्सा लेते रहे हैं.

बीबीसी संवाददाता एम इलियास खान के अनुसार तालिबान और स्थानीय लोगों की लड़ाई पुरानी है.

दीर का इलाक़ा स्वात घाटी से भी जुड़ता है और स्वात घाटी में तालिबान पर पाकिस्तानी सेना ने पिछले दिनों कड़ी कार्रवाई की थी.

संबंधित समाचार