पाक प्रशासित कश्मीर में कोई चीनी सैनिक नहीं: पाक'

तहमीना जंजुआ इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि कश्मीर में चीनी नागरिक केवल विकास कार्यों में व्यस्त हैं.

पाकिस्तान ने भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह के चीनियों के पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में मौजूद होने के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. पाकिस्तान सरकार ने कहा है कि पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में कोई चीनी सैनिक नहीं है.

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तहमीना जंजुआ ने साप्ताहिक पत्रकार वार्ता में पूछे गए एक सवाल पर कहा, "मैंने उनका बयान अभी तक नहीं पढ़ा है लेकिन आज़ाद कश्मीर में जो भी काम हो रहा है वह केवल विकास के लिए है जिसमें चीन के आम शहरी भाग ले रहे हैं."

उन्होंने कहा कि भारतीय सेनाध्यक्ष के बयान में कोई सच्चाई नहीं है और स्पष्ट किया कि कश्मीर में एक भी चीनी सैनिक नहीं है और जो भी चीनी हैं वे आम नागरिक हैं.

तहमीना जंजुआ के मुताबिक़ चीनी सरकार कश्मीर सहित पाकिस्तान के कुछ इलाक़ों में विकास कार्यों में पाकिस्तान की साहयता कर रही है.

नीलम घाटी में गतिविधियाँ

उल्लेखनीय है कि भारत के सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने गुरुवार को पत्रकारों को बताया था कि पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में क़रीब 4000 चीनी नागरिक मौजूद हैं, जिनमें से कई चीन की सेना के सदस्य भी हो सकते हैं.

उन्होंने कहा था कि कुछ लोग सेना के इंजीनियरिंग विभाग से जुड़े हुए हैं और ऐसा भारतीय सेना में भी होता है जहाँ इंजीनियरों के पास लड़ाकू क्षमता भी होती है, तो ऐसे इंजीनियर किसी न किसी तरह चीनी सेना से जुड़े हुए ही हैं.

उन्होंने यह बयान तब दिया जब उनसे पाक-प्रशासित कश्मीर में चीनी सेना की मौजूदगी के बारे में पूछा गया था.

भारतीय सेनाध्यक्ष का बयान ऐसे समय में आया है जब पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के इलाक़े नीलम घाटी में लोगों ने जेहादी गुटों की बढ़ती हुई गतिविधियों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया है.

स्थानीय लोगों के मुताबिक़ हाल के दिनों में नीलम घाटी में चरमपंथियों की गतिविधियाँ बढ़ गई हैं.

संबंधित समाचार