फ़ज़लुल्लाह की पाकिस्तान लौटने की धमकी

fazlullah
Image caption मुल्ला रेडियो के नाम से मशहूर हैं फज़लुल्लाह

अफ़गानिस्तान में रह रहे तालिबान के नेता मुल्ला फ़ज़लुल्लाह ने पाकिस्तान वापस लौटकर जंग शुरु करने धमकी दी है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स को दिए एक साक्षात्कार में फ़ज़लुल्लाह के ख़ास सलाहकार सिराजुद्दीन अहमद ने इसकी जानकारी दी.

सिराजुद्दीन अहमद ने रॉयटर्स को बताया, "हमने शरियत की ख़ातिर अपनी कुर्बानी दी है और घर-गांव को छोड़ा है. हम मलाकंद क्षेत्र और पाकिस्तान के बाक़ी इलाक़ों में शरियत लागू करवाने के लिए कुछ भी कर गुजरेंगे."

तालिबान की ये ताज़ा धमकी इसके बाद आई जब अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और अन्य उच्च रक्षा अधिकारियों ने पाकिस्तान को चरमपंथी गुटों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी.

मुल्ला फ़ज़लुल्लाह पाकिस्तानी तालिबान के नेता हैं जिन्हें साल 2009 में पाकिस्तानी सेना ने इस्लामाबाद से सौ मील दूर स्वात घाटी से एक सैन्य कार्रवाई में खदेड़ दिया था. फ़ज़लुल्लाह मुल्ला रेडियो के नाम से भी जाने जाते हैं.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता अतहर अब्बास के मुताबिक अफ़गानिस्तान में उन्होंने अपने पैर जमा लिए हैं और के एक बार फिर पाकिस्तान के लिए ख़तरा बन गए हैं.

एक दूसरे पर आरोप

पाकिस्तानी तालेबान अफ़गानी तालेबान से अलग गुट है जिसने पाकिस्तान राज्य के ख़िलाफ़ जंग का एलान कर रखा है. ऐसा उन्होंने इस क्षेत्र में अमरीका की चरमपंथियों के ख़िलाफ़ लड़ाई में पाकिस्तानी सहयोग के विरोध में किया है.

फ़ज़लु्ल्लाह के सलाहकार ने बताया, "जब भी अमरीका से पाकिस्तान के रिश्ते बिगड़ते हैं उनके शासक हमसे सुलह की पेशकश करते हैं. लेकिन जैसे ही उनके अमरीका से रिश्ते सुधरते हैं वो अपने वादे भूल जाते हैं और दोबारा से हमारे खिलाफ़ क्रूर हो जाते हैं."

"हम पाकिस्तानी शासकों की ऐसी चालों को समझते हैं और हम झांसे में आने वाले नहीं है."

मौलाना फ़ज़लुल्लाह कट्टरपंथी होने के साथ-साथ नई टेक्नॉलोजी की भी अच्छी जानकारी रखते है.

उनका मुल्ला एफ़एम रेडियो चैनल स्वात घाटी के कई इलाक़ों में सुनाई देता रहा है.

संबंधित समाचार