कराची में मुठभेड़, पाँच चरमपंथियों समेत सात मारे गए

घटनास्थल की तस्वीर इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption घटास्थल से पुलिस को विस्फोटक बेल्ट, ग्रेनेड और स्वचालित हथियार मिले हैं

पाकिस्तान के बड़े शहर कराची में बुधवार देर रात चरमपंथियों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में पाँच चरमपंथियों समेत कम से कम सात लोग मारे गए हैं.

मृतकों में दो सुरक्षाकर्मी थे. अधिकारियों के मुताबिक़ इन में से एक चरमपंथी ने पुलिस के साथ मुठभेड़ के दौरान ख़ुद को विस्फ़ोटकों से उड़ा लिया.

घटनास्थल से पुलिस को एक विस्फोटक बेल्ट, कई ग्रेनेड और स्वचालित हथियार भी मिले हैं.

उत्तरी पाकिस्तान से सुरक्षाकर्मियों की कार्रवाई तेज़ होने के बाद तालिबान ने कराची में चरमपंथी गतिविधियाँ बढ़ा दी हैं.

तालिबान ने हाल में कई हमलों को अंजाम दिया है. सितंबर में हुए ऐसे ही एक हमले में पाकिस्तानी पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी की मौत हो गई थी.

'पूर्व-नियोजित हमला'

हमले की जाँच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बीबीसी के सईद शोएब हसन को बताया, "ये चरमपंथी बीच एवेन्यु इलाक़े में एक वैन में थे. इन पर शक होने पर पुलिस का एक मोटरसाइकिल गश्त दल गाड़ी के क़रीब पहुँचा."

हालाँकि पूरे घटनाक्रम को लेकर अभी तक संशय की स्थिति बनी हुई है. कुछ प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी हुई थी.

लेकिन घटना के वक़्त वहाँ पर मौजूद कुछ अन्य लोगों का कहना है कि पुलिस को देखकर चार चरमपंथी वैन के बाहर कूद गए थे और एक ने खुद को बम से उड़ा लिया था.

अभी तक केवल यही साफ़ हो पाया है कि मारे गए चरमपंथी हमले वाली जगह पर बैठक कर रहे थे.

बीच एवेन्यु नाम का इलाक़ा समुद्री तट के समीप है और पुलिस अधिकारियों को शक है कि ये लोग किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे.

एक पुलिस अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि इस घटना का जून में कराची के मेहरान नेवल बेस पर हुए हमले से जुड़े होने के सबूत मिल रहे है.

मेहरान नेवल बेस में चरमपंथियों और सुरक्षाबलों के बीच 18 घंटे चली गोलीबारी में कम से कम नौ लोग मारे गए थे और 19 घायल हुए थे.

संबंधित समाचार