पाक: उपचुनाव में महिलाओं के वोट पर 'रोक'

पाकिस्तानी महिलाएँ इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत के अधिकतर इलाक़ों में महिलाएँ बुर्क़ा पहन कर बाहर निकलती हैं.

पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत के एक चुनावी क्षेत्र में उप-चुनाव के दौरान महिलाओं को मताधिकार का इस्तेमाल करने से 'रोक' दिया गया.

ज़िला कोहिस्तान में प्रांतीय एसेंबली के क्षेत्र केपीके-61 में गुरुवार को उप-चनाव हुए जिसमें यह फ़ैसला लिया गया.

चुनाव में हिस्सा लेने वाले एक निर्दलीय उम्मीदवार मशूक़ुर्रहमान ने बीबीसी से बातचीत करते हुए कहा कि उप-चुनाव से पहले सभी उम्मीदवारों की एक बैठक हुई थी जिसमें यह फ़ैसला लिया गया कि महिलाओं को मताधिकार की अनुमति नहीं दी जाएगी.

सत्ताधारी दल आवामी नेशनल पार्टी और पीपुल्स पार्टी के साझा उम्मीदवार सज्जादुल्लाह का कहना है कि कुछ इलाक़ों में महिलाओं के वोट डालने पर पाबंदी है लेकिन पूरे क्षेत्र में नहीं है.

'महिलाएँ घर के अंदर'

स्थानीय लोगों ने बीबीसी को बताया कि क्षेत्र में किसी भी मतदान केंद्र पर कोई महिला अपना वोट डालने के लिए नहीं पहुँची.

कोहिस्तान के इलाक़े पतन में मौजूद स्थानीय पत्रकार क़ारी मोहम्मद सईद ने बताया कि सुबह से ख़ुद छह मतदान केंद्र का दौरा कर चुके हैं और उसी दौरान किसी भी मतदान केंद्र में किसी महिला का वोट दर्ज नहीं था.

उन्होंने कहा कि कई मतदान केंद्रों पर महिला पोलिंग स्टाफ़ मौजूद नहीं है और एक दो मतदान केंद्रों पर उन्होंने कुछ महिला पोलिंग स्टाफ़ देखी हैं.

पतन इलाक़े में मौजूद महिला पोलिंग स्टाफ़ फ़हमीदा परवीन ने टेलीफ़ोन पर बताया कि सुबह से उनके मतदान केंद्र में एक भी महिला ने वोट नहीं डाला है.

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से महिलाओं के मताधिकार का इस्तेमाल करने पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन महिलाएँ ख़ुद मतदान केंद्र नहीं आ रही हैं.

ग़ौरतलब है कि प्रांतीय एसेंबील के चुनावी क्षेत्र केपीके-61 में हो रहे उप-चुनाव में कुल 11 उम्मीदवार हिस्सा ले रहे हैं और यह सीट आवामी नेशनल पार्टी के विधायक मौलाना उबेदुल्लाह के निधन के बाद ख़ाली हो गई थी.

संबंधित समाचार