पाकिस्तान ने मोहमंद पर अमरीकी जांच को ख़ारिज किया

मोहमंद एजेंसी इमेज कॉपीरइट AFP Getty
Image caption नवंबर में हुए हमले के बाद पाकिस्तानी सेना ने तस्वीर जारी की थी.

पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान की सीमा पर हुए हवाई हमलों पर अमरीका की तरफ़ से की गई जांच को पाकिस्तानी सेना ने खारिज कर दिया है.

अफ़गानिस्तान की सीमा से सटी मोहमंद एजेंसी में 26 नवंबर को हुए अमरीकी हवाई हमले में 24 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे.

मीडिया के ज़रिए सामने आई कथित अमरीकी जांच रिपोर्ट के बाद पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा है कि वो इस रिपोर्ट से सहमत नही है क्योंकि इसमें ‘तथ्यो की कमी’ है.

अमरीकी जांच रिपोर्ट में बताया गया कि दोनों पक्षों की तरफ़ से ग़लतियां हुई जिसके चलते 24 पाकिस्तानी सैनिकों की मौत हो गई थी.

'तथ्यों की कमी'

पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा है, “पाकिस्तानी सेना अमरीकी/नेटो की जांच रिपोर्ट से सहमत नहीं है. इस रिपोर्ट के तथ्यों में कमियां हैं. जब भी रिपोर्ट औपचारिक रूप से पेश की जाएगी, हम उसका विस्तृत जवाब देंगे. ”

मोहमंद एजेंसी में हुए इस नेटो हवाई हमले की रिपोर्ट प्रकाशित नहीं हुई है लेकिन अमरीकी अख़बार 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' ने इस विषय ख़बर छापी है.

'वॉल स्ट्रीट जर्नल' के अनुसार रिपोर्ट में अमरीकी सेना ने माना है कि उन्होंने ना सिर्फ़ कई ग़लतियां की बल्कि पाकिस्तानी सहयोगियों को ग़लत जानकारियां भी दी.

अख़बार के अनुसार रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि अमरीकी फौ़ज ने ये क़दम अपनी सुरक्षा के लिए काफ़ी सोच समझकर कर उठाया था.

लेकिन उन्होंने ये भी माना है कि किसी कारणवश अमरीकी फ़ौज का अपने पाकिस्तानी सहयोगियों के साथ बेहतर तालमेल नहीं बन पाया था.

नंवबर के आख़िर में हुई नेटो की इस कार्रवाई के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों में काफ़ी तनाव आ गया था.

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री चौधरी अहमद मुख़्तार ने उस वक्त कहा था कि जब तक अमरीका नेटो सेना के हमले पर माफ़ी नहीं मांगता तब तक अफ़ग़ानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय सेना के लिए खाद्य और अन्य सामग्री की आपूर्ति पर रोक लगी रहेगी.

संबंधित समाचार