पाक में सैन्य अभियान, 20 चरमपंथी मरे

पाकिस्तानी सेना इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सेना पिछले काफ़ी समय से क़बायली इलाक़ों में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रही है.

पाकिस्तान में अधिकारियों का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान की सीमा से सटे पाकिस्तान के क़बायली इलाक़ों में सुरक्षाबलों के हमले में कम से कम 20 चरमपंथी मारे गए.

एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि सुरक्षाकर्मियों ने क़बायली इलाक़े औरकज़ई एजेंसी और कुर्रम एजेंसी में मंगलवार और बुधवार की दरम्यानी रात को चरमपंथियों के चार ठिकानों को निशाना बनाया.

अधिकारी के मुताबिक़ सुरक्षाकर्मियों की कार्रवाई में वरिष्ठ चरमपंथी मुल्ला तूफ़ान और औरकज़ई एजेंसी में तालिबान के वरिष्ठ नेता मुईनुद्दीन के सुरक्षित ठिकाने नष्ट हो गए.

'वरिष्ठ नेता की मौत'

उन्होंने बताया कि उस कार्रवाई में 20 से अधिक चरमपंथी मारे गए, जिसमें वरिष्ठ नेता मुईनुद्दीन भी शामिल हैं लेकिन स्थानीय प्रशासन ने मरने वालों की संख्या 12 बताई है.

स्थानीय प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कुर्रम एजेंसी में सैन्य कार्रवाई में मरने वाले चरमपंथियों में कुछ विदेशी भी शामिल हैं लेकिन अभी तक उनकी नागरिकता का पता नहीं चल सका है.

उन्होंने कहा कि चरमपंथियों ने सुरक्षाकर्मियों के ठिकानों पर भी हमले किए लेकिन उसे कोई नुक़सान नहीं हुआ है.

उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने मोरग़ान और मसोज़ई के इलाक़ों में चरमपंथियों के ठिकानों पर हमले किए, जिसमें आठ चरमपंथी मारे गए.

इन्हीं इलाकों में पिछले दिनों सेना और चरमपंथियों के बीच हुए संघर्ष में कम से कम 60 लोगों की मौत हो चुकी है.

ग़ौरतलब है कि कुर्रम एजेंसी को पिछले समय से चमरपंथियों का मज़बूत गढ़ माना जा रहा है और चरमपंथियों के ख़िलाफ़ सैन्य अभियान भी जारी है.

संबंधित समाचार