पाकिस्तान में दिलीप कुमार का घर बना राष्ट्रीय धरोहर

दिलीप कुमार और सायरा बानो इमेज कॉपीरइट PR

पाकिस्तान के ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत ने पेशावर में स्थित अभिनेता दिलीप कुमार यानी यूसुफ़ ख़ान के पुश्तैनी घर को औपचारिक रुप से राष्ट्रीय धरोहर घोषित कर दिया है और उसे ख़रीदने का फ़ैसला लिया है.

संस्कृति विभाग के निदेशक परवेज़ ख़ान सबतख़ेल ने बीबीसी को बताया कि क़रीब तीन महीने पहले वरिष्ठ मंत्री मियाँ इफ़्तिख़ार हुसैन ने दिलीप कुमार के 89 जन्मदिन के अवसर पर उनके पुश्तैनी घर का दौरा कर उसे राष्ट्रीय धरोहर बनाने की घोषणा की थी.

उन्होंने बताया कि प्रांतीय सरकार ने दूसरे चरण में पेशावर स्थित भारत के एक ओर अभिनेता राज कपूर के घर को भी राष्ट्रीय धरोहर का दर्जा देने का फ़ैसला लिया है.

उन्होंने कहा कि पेशावर की किस्सा ख़्वानी बाज़ार में दिलीप कुमार के घर को ख़रीदने के लिए अनुशंसा मुख्यमंत्री को भिजवा दी है और कुछ दिनों के भीतर घर को ख़रीद लिया जाएगा.

घर की याद

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दिलीप कुमार ने फ़ैसले पर ख़ुशी ज़ाहिर की है

उनके मुताबिक़ घर के मालिक ने पहले उसकी क़ीमत पाँच करोड़ रुपय माँगी थी लेकिन बाद में बातचीत के बाद तीन करोड़ रुपय में ख़रीदने का फ़ैसला हुआ.

परवेज़ ख़ान ने बताया कि घर ख़रीदने के बाद उसका पुनर्निमाण किया जाएगा और बाद में आम जनता के लिए खोला जाएगा.

उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में राज कपूर के घर को भी ख़रीद लिया जाएगा और उसे भी राष्ट्रीय धरोहर का दर्जा दिया जाएगा.

ग़ौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में प्रांतीय सरकार ने दिलीप कुमार के घर को राष्ट्रीय धरोहर क़रार देने का फ़ैसला लिया था और दिलीप कुमार ने ट्विटर पर इसकी प्रशंसा की थी.

दिलीप कुमार ने ट्विटर पर लिखा कि घर का नाम सुनते ही उन्हें अपने रिश्तेदारों और विशेषकर माँ की बहुत याद आती है, जो सारा दिन रसोईघर में काम करती रहती थी.

किस्सा ख़्वानी बाज़ार को याद करते हुए उन्होंने लिखा कि कहानी कहने की कला उन्होंने वहाँ से सीखी जो बाद फ़िल्मी दुनिया में उनके काम आई.

संबंधित समाचार