हिमस्खलन में सौ पाकिस्तानी सैनिक दबे

Image caption सियाचिन ग्लेशियर के हिस्सों पर भारत और पाकिस्तान दोनों ही अपना दावा पेश करते हैं

सेना का कहना है कि कश्मीर के विवादित इलाके में हिमस्खलन की वजह से कम से कम सौ पाकिस्तानी सैनिक दब गए हैं.

स्थानीय टीवी स्टेशनों का कहना है कि ये घटना पूर्वी काराकोरम पर्वतीय इलाके के सियाचिन ग्लेशियर के पास किसी जगह की है.

पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल अतहर अब्बास का कहना है कि सेना का एक शिविर भूस्खलन की चपेट में आ गया जहां राहत और बचाव कार्य जारी है.

कश्मीर के सुदूर पर्वतीय पहाड़ी इलाके में हजारों की संख्या में सैनिक तैनात हैं जहां भारत और पाकिस्तान दोनों ही अपना दावा पेश करते हैं.

दुनिया का सबसे ऊंचा युद्धक्षेत्र

कुछ खबरों में कहा गया है कि कम से कम 130 सैनिक भूस्खलन की वजह से दब गए हैं. बर्फ में दबे सैनिक नॉर्दन लाइट इन्फैंट्री के हैं.

सेना का कहना है कि उसकी प्राथमिकता सैनिकों को बचाना है जिनकी मदद के लिए हेलीकॉप्टर और खोजी कुत्ते रवाना किए गए हैं. इलाके का मौसम फिलहाल ठीक बताया जा रहा है.

वर्ष 1947 में कश्मीर को भारत और पाकिस्तान में बांट दिया गया था. इस क्षेत्र पर अधिकार और दर्जे को लेकर दोनों देशों में कई बार लड़ाई हो चुकी है.

सियाचिन ग्लेशियर को दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र के तौर पर जाना जाता है जहां 22,000 फुट पर सैनिकों को तैनात किया गया है. लेकिन यहां युद्ध की बजाए खराब मौसम के कारण ज्यादा सैनिक मारे गए हैं.

संबंधित समाचार