इमरान ने बिलावल पर कसी फ़ब्तियां

अजमेर में ज़रदारी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption इमरान ख़ान ने कहा है कि बिलावल को तो ढंग से उर्दू भाषा भी नहीं आती.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी और उनके पुत्र बिलावल भुट्टो ज़रदारी की भारत यात्रा की इमरान ख़ान कड़ी आलोचना की है.

पाकिस्तान तहरीके-इंसाफ़ के नेता और पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी इमरान ख़ान ने सियाचिन ग्लेशियर में 135 पाकिस्तानी सैनिकों के लापता होने के वक्त भारत की यात्रा करने पर सवाल उठाए हैं.

इमरान ख़ान के निशाने पर बिलावल अधिक थे.

उनपर फ़ब्ती कसते हुए इमरान ने कहा कि 23 वर्षीय बिलावल का पाकिस्तान की नब्ज़ पर हाथ नहीं है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार इमरान ख़ान ने कहा कि देश उन नेताओं को माफ़ नहीं करेगा जो राष्ट्र और उसके संस्थानों का सम्मान नहीं करते.

उन्होंने आरोप लगाया कि ज़रदारी और उनके पुत्र को नहीं मालूम की त्रासदी के वक्त देश के साथ कैसे खड़ा हुआ जाता है.

उन्होंने कहा, “बिलावल को नहीं मालूम कि पाकिस्तान के लोगों को किन दिक्कतों से दो-चार होना पड़ता है. वो तो ठीक ढंग से उर्दू भी नहीं बोल पाते. ”

भुट्टो-ज़रदारी और नवाज़ शरीफ़ परिवारों पर प्रहार करते हुए इमरान ख़ान ने कहा कि उनकी पार्टी आम लोगों में से नेतृत्व चुनेगी ना कि किसी भी परिवारिक पृष्ठभूमि के आधार पर.

इमरान के अलावा पाकिस्तानी मीडिया में कुछ टीकाकारों ने भी ज़रदारी की यात्रा के समय पर सवाल उठाए थे.

उनका कहना था कि जब पाकिस्तानी सेना के 135 सैनिक सियाचिन के एक कैंप में 80 फुट गहरी बर्फ़ में फंसे हों तो ये निजी यात्रा करना क्यों ज़रुरी था.

संबंधित समाचार