रॉकेट दागते तालिबान ने 400 कैदी छुड़ाए

 रविवार, 15 अप्रैल, 2012 को 11:58 IST तक के समाचार
अफगानिस्तान

ये जेल अफगानिस्तान-पाकिस्तान सीमा के पास स्थित है.

पाकिस्तान की खैबर पख्तुनख्वाह सुबे के दक्षिणी जिले बन्नु के केंद्रीय जेल पर संदिग्ध तालिबान चरमपंथियों के हमले के बाद करीब 400 कैदी फरार हो गए हैं.

तहरीके तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी कबूल करते हुए कहा है कि फरार होनेवालों में अहम तालिबान कमांडर भी शामिल हैं.

बन्नु पुलिस के अधिकारी मीर साहब खान ने बीबीसी संवाददाता दिलावर खानवजीर को बताया कि शनिवार और रविवार की दरमियानी रात में तकरीबन 250 हथियारबंद तालिबान लड़ाको ने जेल पर रॉकेटों और ग्रेनेड से हमला किया.

उनके मुताबिक काफी हमलावर गाड़ियों में सवार थे, कुछ पैदल भी थे.

उनका कहना था कि फरार होने वालों में अधिकतर तालिबान चरमपंथी थे जो सजा काट रहे थे.

कमांडर

अधिकारियों के मुताबिक भागने वालों में पाकिस्तान तालिबान के कमांडर भी शामिल थे.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि फरार होनेवाले में पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्फ पर हमले करने के लिए सजाए मौत पानेवाले कैदी अदनान रशीद भी शामिल थे.

जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी इफ्तिखार खान ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि हमले में चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. इन सभी को अस्पताल में भरती करवाया गया है.

अधिकारियों का कहना है कि हमले के समय जेल में 946 कैदी मौजूद थे जिनमें से काफी लोगों ने हमलावरों के साथ जाने से इंकार कर दिया.

रॉयटर्स समाचार एजंसी के मुताबिक तालिबान पाकिस्तान ने हमले की जिम्मेदारी ली है. लेकिन इस दावे की पुष्टि नहीं हुई है.

एजंसी को तालिबान के एक प्रवक्ता ने बताया है कि, “इस हमले में हमने अपने सैंकड़ों साथियों को बन्नू से छुड़ा लिया है. कई अपने गंतव्य पर पहुंच भी गए हैं और कुछ अभी रास्ते में हैं.”

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.