पाकिस्तान विमान हादसे की जांच शुरू

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption एयर लाइन के मालिक फारूक भोजा का नाम नियंत्रण सूची में डाल दिया गया है ताकि वो देश के बाहर ना जा सकें.

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के पास विमान दुर्घटना में मारे गए 127 लोगों में से अधिकतर लोगों की पहचान कर ली गई है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ़ रजा गिलानी ने घटना की जांच के लिए न्यायिक आयोग के गठन की घोषणा की है.

हवाई दुर्घटना में मारे गए लोगों के क्षत विक्षत शव इस्लामाबाद के एक अस्पताल ले जाए गए थे जहां उनकी पहचान की प्रक्रिया जारी है.

प्रधानमंत्री गिलानी ने इस्लामाबाद के अस्पताल में मृत लोगों के परिजनों से संवेदना प्रकट के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि हवाई दुर्घटना से संबंधित सभी प्रश्नों का तब तक जवाब नहीं मिल सकेगा जब तक घटना की जांच के लिए न्यायिक आयोग नहीं बनाया जाता.

प्रधानमंत्री अनुसार जिन मारे गए लोगों के शवों की पहचान नहीं हो सकी है उनका डीएनए टेस्ट किया जाएगा और इसमें दो दिन लग सकते हैं.

इससे पहले अस्पताल के प्रवक्ता डॉक्टर वसीम ख्वाजा ने बीबीसी से बात करते हुए कहा था कि पोस्टमार्टम के अलावा मृत लोगों की पहचान में राष्ट्रीय पंजीकरण संगठन और राष्ट्रीय डेटाबेस पंजीकरण प्राधिकरण की मदद भी ली जा रही है.

डॉ. वसीम के अनुसार उम्मीद है कि शनिवार को अधिकांश मृतकों के शव उनके परिजनों के हवाले कर दिए जाएंगें.

जांच आरंभ

इससे पहले गृहमंत्री रहमान मलिक ने शुक्रवार रात पत्रकारों से बात करते हुए बताया था कि विमान का ब्लैक बॉक्स मिल गया है जबकि वॉयस रिकॉर्डर की तलाश जारी है.

गृहमंत्री के अनुसार उन्हें मिलने वाले परिजनों ने कहा है कि दुर्घटना का शिकार होने वाला विमान पच्चीस साल पुराना था और भोजा एयर लाइन को बंद कर दिया गया था.

मलिक ने कहा कि एयर लाइन के मालिक फारूक भोजा का नाम नियंत्रण सूची में डाल दिया गया है ताकि वो देश के बाहर ना जा सकें. साथ ही भोजा के खिलाफ इस्लामाबाद में प्राथमिकी दर्ज की जा रही है ताकि उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके.

उन्होंने कहा कि घटना की जांच में यह पता लगाया जाएगा कि क्या जहाज का जीवन काल ख़त्म हो चुका था और वह उड़ान के योग्य नहीं था. जांचकर्ता यह भी देखंगे कि उड़ते हुए हवाई जहाज़ के ऊपर बजली गिर गयी थी या दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे कोई और कारण था.

राहत कार्य शुरू

इस्लामाबाद के पास के इलाके हुसैन दिल्ली में घटनास्थल पर शनिवार की सुबह राहत कार्य शुरू कर दिया गया है.

पाकिस्तानी सेना के अधिकारियों ने घटनास्थल को घेर रखा है और राहत कार्यकर्ता व्यापक क्षेत्र में फैले हुए विमान और उसमें सवार लोगों के टुकड़ों को जमा कर रहे हैं.

शुक्रवार और शनिवार के बीच रात बारिश के बाद पैदा होने वाले कीचड़ और अंधेरे के कारण राहत कार्यों में मुश्किलें पेश आ रही थीं जिसके बाद रात राहत कार्यों को रोक दिया गया था.

विमान का ब्लैक बॉक्स शुक्रवार की रात को मिल गया था.

यह घटना निजी एअरलाइन कंपनी भोजा एयर के विमान के साथ शुक्रवार की शाम घटी थी.

भोजा एयर का यह विमान कराची से इस्लामाबाद आ रहा था जिसमें एक सौ इक्कीस यात्रियों और चालक दल के छह सदस्य सवार थे.

संबंधित समाचार