पाक पर अमरीकी धैर्य समाप्त हो रहा है: पनेटा

पनेटा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हिंसा की बढ़ती घटनाओं के बीच पनेटा अफगानिस्तान के औचक दौरे पर है.

अमरीकी रक्षा मंत्री लियोन पनेटा ने कहा है कि पाकिस्तान में तालिबान को शरण दिए जाने के मामले पर अमरीका का धैर्य जवाब दे रहा है.

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में पनेटा ने कहा कि अफगानिस्तान में नेटो सैनिकों पर हमला करने वाले हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ पाकिस्तान को कार्रवाई करनी होगी.

हिंसा की बढ़ती घटनाओं के बीच पनेटा अफगानिस्तान के दौरे पर है.

बुधवार को अफगानिस्तान के कंधार में स्थित एक प्रमुख नेटो सैन्य अड्डे के पास हुए एक आत्मघाती हमले में 20 से ज्यादा लोग मारे गए थे.

वहीं लोगार में नेटों के हवाई हमले में 18 लोगों की मौत हो गई थी.

पनेटा ने पत्रकारों से कहा कि वो हाल ही में हिंसक घटनाओं में हुई बढ़ोत्तरी के बारे में वहां तैनात सैन्य कमांडरों से बात करना चाहते थे.

उन्होंने कहा कि घुसपैठ और हिंसा ज्यादा संगठित होने के बावजूद पिछले वर्षों के मुकाबले हिंसा की कुल घटनाओं में कमी आई है.

पनेटा पिछले एक सप्ताह से एशिया के दौरे पर है जहां उन्होंने अमरीका की नई सामरिक नीतियों की घोषणा की. नई नीतियों के तहत अमरीका अपनी सैन्य ताकत का एक बड़ा हिस्सा एशिया-प्रशांत क्षेत्र में तैनात करेगा.

हिंसक घटनाएं

भारत में उन्होंने कहा था, “हमें ये सुनश्चित करना होगा कि हमें पता हो कि इस मौसम में तालिबान किस तरह के हमले कर सकता है.”

लियोन पनेटा ने कहा कि वो अमरीका के सैन्य कमांडर जनरल जॉन ऐलन से अफगानिस्तान की जमीनी हकीकत का ब्यौरा लेना चाहते थे.

काबुल के हवाई अड्डे पर सैन्य दलों से बात करते हुए पनेटा ने कहा, “हमें अपनी सुरक्षा करने की पूरी जिम्मेदारी है और...पाकिस्तान पर उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए दबाव बनाना होगा.”

बुधवार को अपनी भारत यात्रा के अंतिम दौर में पनेटा ने कहा था कि भारत और अमरीका को रक्षा क्षेत्र में सहभागिता बढ़ानी होगी ताकि एशिया में और स्थिरता लाई जा सके.

पनेटा ने कहा था कि अफगानिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था सुधारने के अभियान में भारत एक महत्वपूर्ण सहयोगी है.

संबंधित समाचार